जासं,बठिडा :

जिले में कोरोना महामारी के केस कम नहीं हो रहे। रोजाना मृतकों की संख्या भी बढ़ रही है। रविवार को कोरोना से 17 मरीजों की मौत हो गई और 836 केस पाजिटिव पाए गए। अब जिले में मरने वालों की संख्या 501 पहुंच चुकी है। जिले में अब कुल मरीजों की संख्या 27406 हो चुकी है और 20455 मरीज रिकवर हो चुके हैं। वहीं 793 मरीज पिछले 24 घंटे में ठीक भी हुए। इस समय में जिले में 6450 एक्टिव केस हैं, जिसमें 5544 होमआइसोलेट है, जबकि 811 मरीज अनट्रेस है, जिन्होंने सैंपलिग के दौरान अपना मोबाइल नंबर या घर का पता गलत दर्ज करवाया है। इन अनट्रेस केसों को सेहत विभाग की टीमें लगातार ढूंढ रही हैं। वहीं दूसरी तरफ शहर में हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। कुछ लोग अभी भी कोरोना वायरस को हलके में ले रहे हैं।

ऐसे लोगों का कहना है कि कोरोना नहीं है परंतु वह लोग उन लोगों से पूछे जिनके परिवारों में कोरोना का कोई ना कोई परिवारिक सदस्य मृत्यु शैय्या पर लेट गया है। ऐसे लोग खुद भी नियमों की पालना नहीं कर रहे तथा दूसरे लोगों में भी भ्रम पैदा कर रहे हैं कि कोरोना जान लेवा नहीं है।

ऐसे में लोगों को सावधानियां बरतनी होंगी, तभी कोरोना की चेन को तोड़ा जा सकता है।

सरकार द्वारा लाकडाउन के बावजूद लोगों को बड़ी राहत देने के बाद कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। वहीं लोगों की ओर से दी गई ढील में अब भी लापरवाही बरती जा रही है। जो लोग नियमों की पालना कर रहे हैं वह भी लापरवाह लोगों के संपर्क में आकर पाजिटिव हो रहे हैं।

पिछले 24 घंटे में 836 केस मिलना इस बात का सबूत है। जबकि ऐसे सैकड़ों मरीज जिले में घूम रहे हैं जो कोरोना की गिरफ्त में है और उनके टेस्ट नहीं हुए हैं। हालात ऐसे बने हुए हैं कि सड़क पर नियमों की धज्जियां उड़ रही है तथा पुलिस प्रशासन भी कुछ नहीं कर पा रहा। कोरोना की चपेट में अब बच्चे, बूढ़े, जवान सभी वर्ग के लोग बड़ी तादाद में आ रहे हैं। सरकार नियमों में फेरबदल तो कर रही है, परंतु इन नियमों का लोग ही पालन नहीं कर रहे।