संस, बठिंडा : डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट पंजाब की ओर से टीचर होम में शिक्षा मंत्री की ओर से बेरोजगार अध्यापकों के खिलाफ गलत शब्दावली का प्रयोग करने के खिलाफ प्रधान रेशम सिंह की प्रधानगी में मीटिंग की गई। मीटिग में प्रदेश इजलास के फैसले के अनुसार जिला स्तर पर 16 दिसंबर को डीसी दफ्तर के बाहर रोष धरने का ऐलान किया गया।

डीटीएफ के प्रधान व महासचिव बलजिंदर सिह ने कहा कि पंजाब सरकार सरकारी स्कूलों से शिक्षा के स्तर को खत्म करना चाहती है। स्मार्ट स्कूलों के नाम पर पूरा बोझ भी सरकारी स्कूलों के अध्यापकों पर डाला जा रहा है। सभी अधिकारी अपनी जिम्मेदारी से भाग रहे हैं। जिसका पंजाब के अध्यापकों द्वारा विरोध किया गया।

जत्थेबंदी के प्रदेश वित्त सचिव जसविदर सिंह व प्रदेश कमेटी मेंबर नवचरनप्रीत ने कहा कि रेशनेलाइजेशन से स्कूलों में अध्यापकों की भर्ती पर रोक लगाई जा रही है, जो लगातार स्कूलों में पद खत्म कर शिक्षा प्राइवेट करने जा रही है। इसलिए सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ 16 दिसंबर कर बेरोजगार अध्यापकों के लिए संघर्ष किया जाएगा। इस दौरान उपप्रधान परविदर सिंह, जिला वित्त सचिव बलविदर शर्मा, सहायक सचिव गुरप्रीत, ब्लाक मौड़ क प्रधान अंग्रेज सिंह, ब्लाक बठिडा के प्रधान भूपिदर सिंह, ब्लाक संगत के प्रधान रतनजोत शर्मा, ब्लाक तलवंडी के प्रदेश प्रधान भोला राम, ब्लाक भगता के प्रधान राजविदर सिंह जलाल, ब्लाक गोनियान के प्रधान कुलविदर सिंह, जिला कमेटी के मेंबर जसविदर सिंह, बलजिदर कौर व हरमिदर सिंह गिल भी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!