जागरण संवाददाता, बठिडा: गुलाबी सुंडी के कारण नरमे की खराब हो रही फसल को लेकर कुल हिद किसान सभा के राज्य महासचिव बलदेव सिंह निहालगढ़ व राज्य प्रधान बलकरन सिंह बराड़ ने बताया कि बठिडा, मानसा, फाजिल्का व संगरूर जिलों में नरमे की फसल पूरी तरह से तबाह हो गई है। किसानों ने नरमा खेतों में ही नष्ट करना शुरू कर दिया है। उन्होंने मांग की कि पंजाब सरकार तुरंत गिरदावरी करवाकर किसानों को मुआवजा दे। साथ ही कीटनाशक दवाइयों की कंपनियों व डीलरों द्वारा बेची जा रही जाली दवाइयों को रोककर इन पर कार्रवाई की जाए। गुलाबी सुंडी से फसल खराब, किसानों हाईवे किया जाम गुलाबी सुंडी कारण खराब हुई नरमे की फसल को लेकर किसी भी सरकारी अधिकारी की तरफ से सार नहीं लिए जाने के विरोध में तलवंडी साबो के रविदास चौक में हजारों की संख्या में किसानों ने हाईवे जाम करके पंजाब सरकार, केंद्र सरकार, बीज कंपनियों, स्प्रे कंपनियों के खिलाफ धरना दिया।

इस दौरान लक्खा सिधाना, ढिल्लो बठिडा वाला, मान बठिडे वाला और रंधावा ने कहा कि प्रसिद्ध कंपनियों के पास से खरीदे गए बीज बीजने के बाद भी किसानों की फसल गुलाबी सुंडी की भेंट चढ़ गई। सरकार किसानों के लिए उचित मुआवजे का प्रबंध करे और नरमे की बीज का उत्पादन करने वाली कंपनियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करे ताकि आगे से वह ऐसे बीज किसानों को देने की हिम्मत न करे। भारतीय किसान यूनियन एकता विद्धूपुर के जिला सीनियर उपप्रधान योद्दा सिंह नंगला ने कहा किसानों को तब संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़ता है जब सरकार किसानों की सार नहीं लेती। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि खराब हुई फसल की गिरदावरी करवाकर कम से कम 50 हजार रुपये मुआवजा दिया जाए।

Edited By: Jagran