जासं, बठिडा। सहारा जनसेवा बठिडा की कोरोना वारियर्स टीम ने कोरोना संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले 24 शवों का अंतिम संस्कार किया। सहारा जनसेवा के विजय गोयल, पंकज सिगला, गौरव कुमार, गौतम, हरबंस सिंह, टेक चंद, जग्गा सहारा, विजय कुमार विक्की, राजेंद्र कुमार, सुमीत ढींगरा, संदीप गोयल, कमल गर्ग, अर्जुन कुमार, सिमर गिल, संदीप गिल, मनी कर्ण, राजेंद्र कुमार, शिवम राजपूत, तिलकराज, सूरजभान गुनी, दीपक गोयल, मोनू कुमार, हरदीप सिंह, नितीश सैन, गुरबिदर बिदी, विकास शर्मा ने इन शवों का अंतिम संस्कार स्थानीय श्मशान भूमि दाना मंडी और बठिडा के आसपास के क्षेत्रों में पूरे रीतिरिवाज के साथ किया। इस दौरान मृतकों के परिजन भी मौजूद रहे। संस्कार के समय बठिडा के तहसीलदार सरदार सुखबीर सिंह बराड़ पहुंचे और उन्होनें खुद अपने हाथों से मृतकों का संस्कार किया। सहारा जनसेवा के अध्यक्ष विजय गोयल ने बताया की हर कोरोना मृतक का उनके धर्म के अनुसार ही सभी क्रियाकर्म व संस्कार पूर्ण सम्मान के साथ परिजनों की उपस्थिति में सहारा कोरोना वारियर्स टीम द्वारा पूर्ण सम्मान के साथ किए जाते है। सहारा कोरोना वारियर्स टीम द्वारा एक क्रिश्चियन व दो का मुस्लिम धर्म के अनुसार संस्कार किया गया। सोसायटी ने चार शवों का किया अंतिम संस्कार

रविवार को कोरोना के कारण दम तोड़ने वाले चार मरीजों के शवों का अंतिम संस्कार समाजसेवी संस्था नौजवान वेलफेयर सोसाइटी बठिडा के वालंटियर ने किया। वालंटियर्स भूषण बांसल, कमल वर्मा, रमनदीप सिंह, राकेश जिदल, हरप्रीत सिंह, दीपक बांसल, दीपक जिदल, राकेश कांसल, कमल वर्मा, अंकित, जनेश जैन, रोहित सोनी, मोनू शर्मा, राजविदर धालीवाल ने पीपीई किट्स पहनकर स्थानीय श्मशान भूमि में परिजनों की मौजूदगी में किया। संस्था के प्रधान सोनू माहेश्वरी ने बताया कि

सुभाष गली में होम क्वारंटाइन कोरोना पाजिटिव महिला की हालत गंभीर हो गई। सूचना मिलते ही सोसायटी के वालंटियर एंबुलेंस सहित मौके पर पहुंचे तथा महिला को अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी मौत हो गई। इसी तरह 80 वर्षीय कोरोना पाजिटिव सत्या देवी की घर पर मौत हो गई। होम क्वारंटाइन में ही कोरोना पाजिटिव बुजुर्ग जंग सिंह (73) की भी मौत हो गई। इसके अलावा बठिडा न्यूरो स्पाइन अस्पताल में दाखिल कोरोना पाजिटिव जरनैल सिंह निवासी मानसा की मौत हो गई।

Edited By: Jagran