जेएनएन, बठिंडा। शहर के सिविल लाइन एरिया में स्थित सिविल लाइन क्लब के नए व पुराने पदाधिकारियों में विवाद गहराता जा रहा है। क्लब के पूर्व पदाधिकारियों ने जिला अदालत में याचिका दायर कर कहा है कि क्लब से गुरु नानक हॉल एवं लाइब्रेरी को बाहर निकालकर क्लब में मालवा जोन का कांग्रेस का दफ्तर बनाने की कोशिश की जा रही है।

याचिका पर एडिशनल सिविल जज (सीनियर डिवीजन) ने कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़, सिविल लाइन क्लब के अध्यक्ष राजन गर्ग व महासचिव सुनील सिंगला समेत 12 लोगों को समन जारी किए हैं। मामले पर सुनवाई छह सितंबर से शुरू होगी।

गुरुनानक देव लाइब्रेरी एंड हॉल के अध्यक्ष जगदीश सिंह धालीवाल व क्लब के पूर्व अध्यक्ष शिवदेव सिंह ने यह याचिका दायर की है। इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि सत्ताधारी पार्टी के कुछ नेताओं ने अवैध तरीके से क्लब के चुनाव करवाकर उस पर कब्जा जमा लिया है। अब वह क्लब पर अपना कब्जा करने की नीयत से क्लब के अंदर सालों पुरानी गुरु नानक देव लाइब्रेरी एवं हॉल को क्लब से बाहर निकालने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि गुरु के नाम पर बनी लाइब्रेरी को बाहर निकालकर क्लब में दोबारा से शराब आदि का सेवन शुरू किया जा सके।

मौजूदा समय में शराब का सेवन क्लब में बंद है। मौजूदा क्लब पदाधिकारी सत्ताधारी पार्टी से संबंधित हैं, इसलिए वह लाइब्रेरी की जगह मालवा जोन का दफ्तर बनाने की कोशिश में जुटे हैं। उक्त पदाधिकारियों ने लाइब्रेरी की आड़ में कांग्रेस पार्टी के दफ्तर की इमारत का नींव पत्थर रखने के लिए दो सितंबर का प्रोग्राम रखा है। याचिका 30 अगस्त को दायर की गई थी।

तख्त श्री दमदमा साहिब के आदेशों बाहर किया जा रहा लाइब्रेरी को: क्लब प्रधान

सिविल लाइन क्लब के मौजूदा प्रधान राजन गर्ग ने कहा कि अभी तक उन्हें कोर्ट की तरफ से कोई नोटिस नहीं मिला है। अगर मिलता है, तो वह उसका जबाव कोर्ट में देंगे। जिस शिवदेव सिंह ने कोर्ट में याचिका दायर की है, उसे क्लब में घोटाला करने पर निकाला जा चुका है। दफ्तर बनाने की बात मात्र अफवाह है। तख्त श्री दमदमा साहिब के आदेशों पर लाइब्रेरी को क्लब से बाहर किया जा रहा है। तख्त ने क्लब को इसके संबंध में पत्र भी भेजा है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!