जागरण संवाददाता, बठिडा : लर्निंग ड्राइविग लाइसेंस बनवाने के लिए अब जिले के 1500 लोगों को सरकारी दफ्तर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। सरकार ने लर्निंग लाइसेंस बनवाने की सुविधा घर बैठे ही दे दी है। इसके लिए अब आधार कार्ड से लर्निंग लाइसेंस को बनवाया जा सकता है। मगर इसमें यह ध्यान रखना होगा कि लर्निंग लाइसेंस आधार कार्ड से सिर्फ उसी व्यक्ति का बनेगा, जिसका नंबर आधार कार्ड से लिक होगा। क्योंकि अप्लाई करते समय जारी होने वाला ओटीपी भी आधार कार्ड बेस्ड होगा।

ड्राइविग लाइसेंस बनवाने की सुविधा का नए लाइसेंस अप्लाई करने वाले लोग ही फायदा ले सकेंगे। जिले में हर महीने एवरेज 1500 लोग लर्निंग लाइसेंस बनवाते हैं। जबकि जिन लोगों ने पहले अप्लाई कर स्लाट बुक किए हैं, उनको दफ्तर में जाकर ही टेस्ट देना होगा। ऐसा नहीं है कि वह टेस्ट घर पर नहीं दे सकते। मगर उनके लिए यह मुमकिन नहीं है। इसका कारण है कि जिन्होंने पहले ड्राइविग लाइसेंस बनाने के लिए स्लाट बुक कराया था, उन्हें लर्निंग डीएल अप्लाई करने से पहले आरटीए दफ्तर में जाकर फोटो खिचवाने के साथ यूनिक नंबर लेकर आना पड़ेगा।

सबसे परेशानी वाली बात यह है कि यह यूनिक नंबर आरटीए आफिस द्वारा दिया जाता है और उसकी समय सीमा सिर्फ 10 मिनट की होती है। अगर इस समय सीमा के भीतर व्यक्ति ने प्रक्रिया पूरी नहीं की तो दोबारा से यूनिक नंबर लेने के लिए आरटीए दफ्तर जाना पड़ेगा। जबकि सेवा केंद्रों में भी लर्निंग डीएल की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। अगर लोग घर बैठे आवेदन नहीं कर सकते तो सेवा केंद्र में अप्लाई कर सकते हैं। वहां आनलाइन ट्रैफिक चिन्हों का टेस्ट देना होगा। वहीं जो लोग नया लर्निंग डीएल बनाना चाहते हैं, उन्हें आरटीए दफ्तर आने की कोई जरूरत नहीं, वह अपने घर पर आनलाइन के जरिए खुद डीएल बनवा सकते हैं और जिन्होंने योजना के शुरू होने से पहले नंबर लिए थे। उनको दफ्तर आकर फोटो खिचवाने के साथ यूनिक नंबर लेना होगा।

--------------

अप्लाई करने के लिए यह रहेगा प्रोसेस

-- सबसे पहले ह्यड्डह्मड्डह्लद्धद्ब.श्चड्डह्मद्ब1ड्डद्धड्डठ्ठ.द्दश्र1.द्बठ्ठ लिक को ओपन करना होगा

-- संबंधित आरटीए को सेलेक्ट करने के बाद फेसलेस का आप्शन चुनना होगा

-- यह पूरा होने पर आधार कार्ड का नंबर दर्ज करना होगा

-- इसके बाद आधार का आटोमैटिक वेरिफिकेशन होगा व एक ओटीपी आएगा

-- मोबाइल पर आए ओटीपी को दर्ज करना होगा

-- इसके बाद फार्म भरकर जरूरी कागजात अपलोड करने होंगे

-- यह ध्यान रखें कि जो मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिक है, उसी को फार्म भरते समय देना होगा

-- उपरोक्त प्रोसेस पूरा होने के बाद फीस भरनी होगी

-- इसके बाद आनलाइन टेस्ट के लिए ओटीपी मिलेगा

-- ओटीपी दर्ज करने के बाद टेस्ट में फेस आइथेंटिकेशन होगा

-- टेस्ट के 15 सवाल होंगे, इनमें कम से कम आठ का सही जवाब देना होगा

-- पहले स्टेप में 3 मौके मिलेंगे, अगर तीनों बार फेल हुए तो चौथी बार आफिस स्लाट बुक कर सकेंगे

Edited By: Jagran