संवाद सहयोगी, तपा (बरनाला)

नजदीकी गांव हरीगढ़ में एक युवक की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। स्वजनों का कहना है कि उनके बेटे की हत्या की गई है। धर्मप्रीत सिंह ट्राईडेंट धौला फैक्ट्री में कार्यरत था। शुक्रवार को अपने साथी हरप्रीत सिंह के साथ शाम पांच बजे गांव से बाहर गया था। रात नौ बजे के बाद भी वह घर नहीं लौटा तो स्वजनों ने उसके फोन पर संपर्क किया जिसका उसने जवाब नहीं दिया। मध्य रात्रि के बाद उन्हें फोन आया कि वह तपा आ जाए। जब स्वजन तपा पहुंचे तो देखा कि सड़क के मध्य एक गली में उनके बेटे की लाश पड़ी थी। पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही स्वजनों के बयानों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। ----------------------

कर्जे से आहत किसान ने की खुदकुशी

संवाद सूत्र, भवानीगढ़

नजदीकी गांव नागरा के किसान ने कर्ज से परेशान होकर खुदकुशी कर ली। 40 वर्षीय भगवंत सिंह ने हाल ही में अपनी बेटी का विवाह किया था। उसके सिर पर पांच लाख रुपये का कर्ज था। वह परेशान रहता था। पत्नी की पहले एक्सीडेंट में मौत हो चुकी है। किसान के पास जमीन जायदाद नहीं थी व ठेके पर ही खेती करता था। मानसिक तनाव के चलते उसने अपने घर पर छत वाले पंखे से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। मृतक का 15 साल का बेटा व नौ साल की बेटी भी है। ---------------------- गाड़ी में लगी आग, चालक बाल-बाल बचा

संवाद सहयोगी, मालेरकोटला

लुधियाना-मालेरकोटला मुख्य मार्ग पर शनिवार दोपहर के समय सड़क पर जा रही गाड़ी के ईजन में आग लग गई। हादसे के चश्मदीद नौजवान जश्न बैनिपाल ने बताया कि एक लोगिन कार मलौद से मालेरकोटला की तरफ जा रही थी। गांव भोगीवाल पहुंचने पर ईजन से धुआं निकलने लगा। उसने तुरंत गाड़ी चालक गुरप्रताप सिंह निवासी मलोद को बताया। गाड़ी रोककर बाहर आकर ईजन को देखा तो उसमें आग लग गई। हादसे में किसी प्रकार का जानी नुकसान होने से बचाव हो गया। ईजन के सभी पार्ट्स बुरी तरह से जलकर क्षतिग्रस्त हो गए है। आग लगने के कारण का पता नहीं चल सका। कर्मजीत सिंह, राज सिंह, भूपिंदर सिंह आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran