हेमंत राजू, बरनाला

जिले के गांव वजीदके में जमीन की खोदाई के दौरान मानव शरीर के पिजर व घड़े मिलने से मुस्लिम भाईचारे में रोष है। मुस्लिम भाईचारे के लोगों ने खोदाई वाली जमीन पर विगत समय में कब्रिस्तान होने का दावा करते हुए वक्फ बोर्ड के खिलाफ नारेबाजी करते हुए खोदाई का कार्य बंद किए जाने की मांग की। यह जमीन वक्फ बोर्ड द्वारा गांव रायसर के ही एक किसान सुखदेव सिंह सुक्खा को बटाई पर दी हुई है। सुखदेव सिंह मिट्टी की खोदाई कर रहा था तो वहां से मानव शरीर के अवशेष मिले।

मुस्लिम भाईचारे ने वक्फ बोर्ड के खिलाफ नारेबाजी करते हुए इस जगह पर कब्रिस्तान आबाद करने की मांग की है। मुस्लिम फ्रंट पंजाब के नेता हमीद मोहम्मद, मोहम्मद हंस, मोहर शाह रायसर, काका रायसर, पाल खां, यूसफ खान, मोहम्मद चन्नणवाल, अकबर खान, भोला खान, लाली खान, दिलवर खान, जगमोहन शाह रायसर ने कहा कि इस जमीन पर आजादी से पहले कब्रिस्तान था। वक्फ बोर्ड द्वारा स्थानीय मुस्लिम भाईचारे की सहमति के बिना इस जमीन को बटाई पर दिया गया है। मिट्टी खोदकर विभिन्न जगहों पर फेंकी जा रही है जिससे उनके बुजुर्गों की अस्थियों का निरादर हो रहा है। किसान सुखदेव ने विश्वास दिलाया है कि जब तक कानूनी पक्ष से फैसला नहीं होता वह खुदाई नहीं करेगा।

---------------- मौके पर पहुंचे अधिकारी, काम रुकवाया तहसीलदार बरनाला संदीप सिंह, एएसपी महल कलां शुभम अग्रवाल, एसएचओ बलजीत सिंह ढिल्लों ने मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया व मुस्लिम भाईचारे को विश्वास दिलाया कि पूरे मामले की जांच पड़ताल करके अगली कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जब तक कोई फैसला नहीं आ जाता तब तक मिट्टी खोदने का कार्य रोक दिया गया है।

Edited By: Jagran