जागरण संवाददाता, बरनाला

भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां द्वारा अपनी मांगों को लेकर डीसी दफ्तर में लगाया धरना बुधवार को भी जारी रहा। नेताओं ने मानी मांगें लागू न करने वाले अधिकारियों का घेराव करने का एलान किया। धरने को संबोधित करते प्रांतीय प्रधान हरदीप सिंह टल्लेवाल, जिला प्रधान चमकौर सिंह नैणेवाल, सचिव जरनैल सिंह, भगत सिंह, बुक्कण सिंह, बलौर सिंह, सुखदेव सिंह, बलविदर सिंह ने पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए गुलाबी सुंडी से बर्बाद हुई नरमे की फसल व ओलावृष्टि से धान व अन्य फसलों की तबाही का मुआवजा काश्तकार किसानों को 17 हजार रुपये प्रति एकड़ व खेत मजदूरों को अलग से 10 प्रतिश्त अदा करने, पंजाब सरकार द्वारा बढ़ाया गन्ने का दाम 360 रुपये प्रति क्विटल की पर्ची किसानों को हर शूगर मिल की तरफ से गारंटीड देने, आत्महत्या पीड़ित किसानों-मजदूरों के परिवारों को तीन-तीन लाख रुपये की आर्थिक सहायता व घर के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने, किसानों का संपूर्ण कर्ज माफ करने, पांच एकड़ तक मालकी वाले किसानों के लिए घोषित दो लाख रुपये तक की कर्जा माफी बिना शर्त तुरंत किसानों को देने, आंदोलनकारी किसानों पर दर्ज मामले तुरंत रद करने व जान गंवाने वाले किसानों-मजदूरों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने, पावरकाम द्वारा ढाई एकड़ तक मालकी वाले किसानों को पहल के आधार पर खेती ट्यूबवैल कनेक्शन देने के सरकारी फैसले मुताबिक एस्टीमेट की पूरी राशि जमा करवा चुके व अन्य जरूरतमंद किसानों को तुरंत कनेक्शन जारी करने आदि मांगों की पूर्ति के लिए संघर्ष किया जा रहा है।

कमलजीत कौर, बिदरपाल कौर, सुखदेव कौर, कुलविदर कौर, अमरजीत कौर आदि उपस्थित थे। इस मौके दर्शन सिंह भैणी, हरजीत सिंह मान, रूप सिंह, कृष्ण सिंह, जरनैल सिंह, गुरनाम सिंह, राजिदर सिंह, कमलजीत कौर, गुरबिदर कौर आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran