जासं, अमृतसर : कोविड से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान लगातार जारी है। कुछ लोगों को संदेह है कि टीका लगवाने के बाद शरीर में कई तरह की अन्य परेशानियां शुरू हो जाती है। जोकि हमारे शरीर के पूरी तरह से स्वस्थ होने के संकेत है। यह बताया डा. सौरव जौली ने। डा. जौली ने बताया कि टीकाकरण पूरी तरह से सुरक्षित है। 18 साल की आयु से उपर वाले सभी लोगों को टीका लगाया जा रहा है। इसके लिए अलग-अलग जगहों पर कैंप लगाए गए है। टीका की पहली डोज से ही वायरस से संक्रमित होने का खतरा लगभग पूरी तरह से टल जाता है। इसलिए जरूरी है कि टीका जरूर लगवाया जाए। साथ ही अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित किया जाए। क्योंकि हम सबको मिलकर ही वायरस के खिलाफ जंग लड़नी है और इसमें टीका एक अहम हथियार है। जिसके जरिए वायरस को मात दी जा सकती है। डा. जौली ने कहा कि हम सबका फर्ज बनता है कि अपने पूरे परिवार का टीकाकरण करवाएं और साथ ही आस-पास के लोगों को भी जागरूक करें।