जागरण संवाददाता, अमृतसर : गुरु नानक देव विश्वविद्यालय के संगीत विभाग के सहायक प्रोफेसर प्रभाकर कश्यप को एक लड़की को अश्लील एसएमएस भेजने के आरोपों में पद से हटाने के बाद विवाद गहरा गया है। विभाग के विद्यार्थियों का एक ग्रुप अब विभाग की अध्यक्ष डॉ. गुरप्रीत कौर के खिलाफ मैदान में उतर गया है। जबकि दूसरा ग्रुप डॉ. ग्रुरप्रीत के पक्ष में आ गया है।

विद्यार्थियों के दोनों ग्रुपों ने बुधवार जीएनडीयू के वीसी के कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। एक ग्रुप मांग कर रहा था कि विभाग की मुखी विद्यार्थियों को अनावश्यक परेशान कर रही है। इसलिए विभाग मुखी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। जबकि दूसरा ग्रुप मांग कर रहा था कि विभाग के कुछ विद्यार्थी राजनीति से प्रेरित होकर विभाग मुखी के खिलाफ झूठे आरोप लगाकर माहौल को खराब कर रहे हैं।

विभाग मुखी के विरोधी विद्यार्थियों सुमीत ढिल्लों, नवप्रीत, इंद्रजीत ¨सह, सवित, मीनू, म¨नदर, दीपिका चमन आदि ने बताया कि विभाग की मुखी उनको पिछले काफी समय से तंग परेशान कर रही है। विभाग मुखी ने धमकियां दी हैं कि वह उनको डिग्री पूरी नहीं करने देगी। वीसी यहां नहीं है। इसलिए शिकायत को लेकर डीन अकादमिक और रजिस्ट्रार के साथ उनकी बातचीत हुई है। अब उनको डीन ने अपनी कक्षाएं लगाने के लिए कहा है।

विभाग का माहौल खराब कर रहे कुछ लोग: समर्थक ग्रुप

विभाग मुखी के समर्थक विद्यार्थियों रमनदीप कौर , सर्बजीत कौर, मनदीप ¨सह, सुमित पदम आदि ने बताया कि विभाग में कुछ लोग राजनीति करते हुए महौल खराब कर रहे हैं। दस के करीब कुछ ऐसे विद्यार्थी हैं जो कुछ लोगों के बहकावे में आकर विभाग की मुखी डॉ. गुरप्रीत कौर के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनका विरोध भी तब तक जारी रहेगा जब तक माहौल खराब करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती।

झूठे आरोप लगा फैलाई जा रही हैं अनियमितताएं : डॉ. गुरप्रीत

संगीत विभाग की मुखी डॉ. गुरप्रीत कौर का कहना है कि कुछ विद्यार्थी अलग-अलग अध्यापकों पर झूठे आरोप लगाकर विभाग के शांतिमय माहौल को खराब कर रहे हैं। कुछ कर्मी भी गलत विद्यार्थियों को शह दे रहे हैं। परंतु इस तरह की अनियमितताएं किसी भी कीमत पर सहन नहीं होगीं। अनुशासन के संबंध में वीसी और डीन को भी कहा गया है।

जल्द हल होगा विवाद : काहलों

उधर जीएनडीयू के रजिस्ट्रार डॉ. केएस काहलों और डीन डॉ. कमलदीप ¨सह ने कहा कि उनके पास विद्यार्थियों ने शिकायतें दी हैं। सभी पक्षों को सुना गया है। जल्दी ही विवाद हल कर दिया जाएगा। विद्यार्थियों को कक्षाएं लगाने की हिदायतें दे दी गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!