फोटो-54

जागरण संवाददाता, अमृतसर

डिप्टी कमिश्नर शिव दुलार सिंह ढिल्लों ने कहा कि मिलावटखोरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की जरूरत है। लोगों की सेहत के साथ

खिलवाड़ की इजाजत नहीं दी जाएगी और शहर में बिकने वाले खाद्य पदार्थो में मिलावटखोरी बर्दाश्त नहीं होगी। उन्होंने यह बातें मंगलवार को यहां जिला परिषद के कांफ्रेंस हाल में सेहत अधिकारियों के साथ मासिक बैठक में कहीं। बैठक में एडीसी विशेष सारंगल, सिविल सर्जन डॉ. एचएस घई और डिप्टी मेडिकल कमिश्नर डॉ. प्रभजीत कौर भी उपस्थित थी।

डीसी ढिल्लों ने सेहत विभाग के कामों की समीक्षा करते हुए कहा कि मिलावटखोरों पर शिकंजा कसा जाए। उन्होंने जन्म के दौरान होने वाली मौतों पर चिता जताते हुए कहा कि यह गंभीर मामला है और इस तरफ खास ध्यान दिए जाने की जरूरत है। गांवों में सेहत विभाग स्पेशल कैंप लगाए। इसमें आशा वर्कर लोगों को जागरूक करते हुए गर्भवती को प्रसव के लिए अस्पताल में ले जाने को प्रेरित करें। डीसी ने एसएमओज को हिदायत दी कि वे अपनी ड्यूटी के मुताबिक अस्पतालों और डिस्पेंसरियों में हाजिरी सुनिश्चित करें। ड्यूटी पूरी इमानदारी और तनदेही से करें। उन्होंने लिग अनुपात में सुधार लाने पर बल देते हुए कहा कि इसमें डाक्टरों को अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए। टीकाकरण अधिकारी सभी सरकारी अस्पतालों में कैंप लगा बच्चों का टीकाकरण करवाएं। जिले में चल रहे नशा छुड़ाओ अस्पताल केंद्रों बारे भी उन्होंने जानकारी हासिल की और

कहा कि इनमें आने वाले नशा पीड़ितों पर विशेष ध्यान दिया जाए। इस बैठक में जिला सेहत अधिकारी लखबीर सिंह भागोवालिया, सहायक सिविल सर्जन डॉ. किरणदीप कौर, टीकाकरण अधिकारी डॉ. रमेश पाल, जिला टीबी अधिकारी डॉ. नरेश चावला समेत जिला के सभी सीनियर मेडिकल अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!