जागरण संवाददाता, अमृतसर

कुछ समय से आरएसएस की ओर से प्रकाशित पुस्तकों में सिख गुरुओं के साथ संबंधित एतिहासिक तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर पेश करने का विवाद गहराया हुआ है। पुस्तकों में क्या गलत प्रकाशित हुआ है। इस के लिए आरएसएस के पब्लिशर्स की ओर से प्रकाशित तीन पुस्तकों में प्रकाशित तथ्यों की जांच शुरू कर दी गई है।

एसजीपीसी के प्रवक्ता दिलजीत ¨सह बेदी ने बताया कि एसजीपीसी की टीम भारती प्रकाशन की ओर से प्रकाशित पुस्तकों में श्री गुरू तेग बहादुर साहिब, फतेह ¨सह जोरावर ¨सह और गुरु गो¨बद ¨सह जी के संबंध में प्रकाशित किए गए तथ्यों की जांच की जाएगी इस के लिए सिख इतिहास रिचर्स बोर्ड व सिख इतिहासकारों से रिपोर्ट मांगी जाएगी। जो भी रिपोर्ट पहुंचेगी उसके अनुसार ही अगली कार्रवाई की जाएगी। एसजीपीसी की ओर से अन्य किताबों की भी जांच की जा रही है जिस में सिख इतिहास के तथ्यों को गलत ढंग से पेश किए जाने की शिकायतें पहुंच रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!