जागरण संवाददाता, अमृतसर : अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व चेयरमैन त्रिलोचन सिंह ने कहा कि भारत सरकार श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए जाने वाली संगत को बिना पासपोर्ट पाकिस्तान जाने की इजाजत दे। त्रिलोचन सिंह को हाल में ही पद्म भूषण प्रदान किया गया है। पद्म भूषण मिलने के बाद वह श्री हरिमंदिर साहिब में नतमस्तक होने आए थे। शनिवार को चीफ खालसा दीवान द्वारा भाई वीर सिंह की याद में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रम में भी त्रिलोचन सिंह हिस्सा लेंगे।

त्रिलोचन सिंह ने कहा कि हरिमंदिर साहिब में सुख-शांति व सरबत के भले के लिए अरदास की है। भारत सरकार की तरफ से पदम भूषण मिलना एक बड़ा सम्मान है। यह सम्मान हासिल करने वाले वह पहले सिख है। अल्पसंख्यक आयोग का चेयरमैन रहते हुए सिखों की मांगों और आवाज को उठाया और उनकी मुश्किलों को हल करने में काफी योगदान दिया। अगर उनको सिख पंथ की सेवा का दोबारा मौका मिलता है तो वह पूरी इमानदारी से निभाएंगे। इस दौरान त्रिलोचन सिंह को एसजीपीसी के सूचना अधिकारियों द्वारा सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उनके साथ रजिदर सिंह मरवाह, प्रदीप सिंह वालिया, हरपाल सिकह, सुखविदर सिंह प्रिस, हरजाप सिंह, सूचना अधिकारी हरिदर सिंह रोमी, जतिदरपाल सिंह व अमृतपाल सिंह आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran