संवाद सहयोगी, अमृतसर

पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की 10वीं की परीक्षाओं में 15 प्रतिशत से कम परिणामों वाले स्कूल मुखियों तथा संबंधित अध्यापकों को शिक्षा विभाग ने तलब कर लिया है। विभाग ने राज्य के 221 स्कूलों के मुखियों तथा अध्यापकों को 1 जून को शिक्षा बोर्ड के आडिटोरियम में हाजिर होने के निर्देश दिए हैं। घटिया परिणामों में जिला तरनतारन के 89 स्कूल तथा अमृतसर के 56 स्कूल सूची में शामिल हैं।

विभाग के एससीईआरटी के डायरेक्टर इन्द्रजीत ¨सह द्वारा राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को जारी किए गए पत्र में स्पष्ट कहा गया है कि 10वीं की वार्षिक परीक्षा मार्च 2018 में 15 प्रतिशत से कम परिणामों वाले स्कूलों की लिस्ट भेज कर निर्देश दिए जाते हैं कि संबंधित स्कूलों के मुखियों तथा उन स्कूलों के विषय अध्यापकों को मीटिंग में भेजा जाए। पत्र में कहा गया है कि जिन स्कूलों में अस्थाई प्रबंध अधीन रखे गए अध्यापक जो संबंधित विषय से संबंध नहीं रखते लेकिन वह अध्यापकों की कमी के कारण विषय पढ़ा रहे हैं, उन्हें मी¨टग में न भेजा जाए। इसके अलावा सामाजिक शिक्षा के अध्यापक यदि अंग्रेजी विषय पढ़ा रहे हैं तो उनको मी¨टग में हाजिर होने के निर्देश जारी किए जाएं।

15 प्रतिशत से कम परिणामों वाली सूची में सबसे ऊपर जिला तरनतारन का नाम है। तरनतारन के 89, अमृतसर के 56, फाजिल्का का 1, फिरोजपुर के 7, गुरदासपुर के 20, होशियारपुर के 1, जालंधर के 18, कपूरथला के 5, लुधियाना के 3, मानसा के 2, मोगा के 8, पठानकोट के 8, पटियाला का 1, एस.बी.एस. नगर के 5, संगरूर का 1 के नाम शामिल है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!