जागरण संवाददाता, अमृतसर

आइआइएम अमृतसर में परिप्रेक्ष्य —2018 कान्कलेव सफलतापूर्वक आयोजन किया गया। कार्यक्रम में Þदा फाइनेंसियल प्रूडेंट्स इन इंडिया, करंट सिनेरियो एंड दा वे फारवर्ड Þ और Þ रि- इन्वें¨टग मार्केटिंग फार लायल कस्टमर्स Þ के विषयों पर अलग अलग विशेषज्ञों की ओर से चर्चा करते हुए संस्थान के विद्यार्थियों को मार्केट की बरीकियों के संबंध में जानकारी दी गई।

वित्त पैनल के प्रतिष्ठित पैनल में ईवीपी और हेड ऑपरेशंस, फाइनेंस एंड टेक्नोलाजी, कोटक सिक्योरिटीज लिमिटेड के त्रीविक्रम कामथ, राहुल बोथरा सीएफओ स्विगी, सलील गर्ग निदेशक फिच रे¨टग, विनय गुप्ता, श्रीकृष्ण रामचंद्रन ग्लोबल हेड आरपीए फिलिप्स द्वारा नियंत्रित की गई।

वित्त पैनल में आईएल एंड एफएस संकट के चलते और पिछले ग्लोबल मुद्दों से निपटने के लिए भारत में वित्तीय समझदारी के बारे में माननीय व्यक्तियों ने चर्चा की गई। श्रीकृष्ण रामचंद्रन ने तैत्रीय उपनिषद- Þसत्यम वद, धर्मम चरÞ से शुरू करके इस बात पे जोर डाला कि संकट के समय में चुप्पी सही मार्ग नहीं है। उन्होंने इस बात पर जोर देने की कोशिश की थी कि कैसे भारतीय शिक्षा प्रणाली छात्रों में मूल्यों और नैतिकता को बढ़ाने की तुलना में नंबर क्रं¨चग पर •ाोर दे रही है। वित्तीय समझदारी के संदर्भ में श्रीकृष्ण ने कहा कि खराब स्मृति और नैतिक मूल्यों में आ रही गिरावट इस परेशानी का कारण है।

विशेषज्ञ विनय कुमार का मानना है कि बैंकर को जोखिम लेने के बारे में बहुत संदेह नहीं होना चाहिए। राहुल बोथ्रा ने चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि स्टार्ट-अप जो सबसे अधिक जोखिम वाले हैं, वो फाइनेंस के मद्दे न•ार रख कर आर्थिक फैसले लेने चाहिए। वही दूसरी तरफ श्री त्रीविक्रम कामथ ने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर में समस्या यह है कि इस क्षेत्र को लम्बे समय तक का ऋण नहीं मिल रहा है। सलील गर्ग ने कहा कि लालच के अलावा, रे¨टग एजेंसियां भी आईएल एंड एफएस के संकट में कारण है।

मार्के¨टग पैनल के प्रमुख पैनलिस्टों में इंद्रप्रीत ¨सह, हेड मार्के¨टग कम्युनिकेशंस बीएमडब्ल्यू इंडिया , उमेश राव पूर्व एसवीपी और सीएमओ डीएचएफएल प्रामेरिका लाइफ इंश्योरेंस लिमिटेड, सोमनाथ चटर्जी, निदेशक लायलिटी एक्कोर ग्रुप ऑफ़ होटल्स, अभय कुमार, ग्रुप सीएमओ रिलायंस कैपिटल, सत्यार्थ प्रियदर्शी और सौरभ श्रीवास्तव, स्वतंत्र सलाहकार, पूर्व सीएमओ ने चर्चा में हिस्सा लेते हुए रि- इन्वें¨टग मार्के¨टग फार लायल कस्टमर्स पर अपने विस्तृत विचार पेश किए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!