संस, अमृतसर : लंगूर मेले के नौवें दिन लंगूर बने बच्चों ने अपने माता-पिता के साथ श्री बड़ा हनुमान मंदिर में नतमस्तक होकर अपनी धार्मिक परंपरा को निभाया। कपाट खुलते ही जय श्रीराम के जयकारों के साथ लंगूर बने बच्चों ने श्री हनुमान जी के दर्शन करके खुशी महसूस की। बच्चे भी अपने माता पिता के साथ लंगूर बन कर ढोल की ताल पर नाचते हुए दिखाई दिए। बजरंगी सेना ने भी श्री दरबार में हाजिरी भरकर श्री हनुमान चालीसा का पाठ किया। वहीं बजरंगी सेना ने भी कई घरों में जाकर भक्तों श्री हनुमान जी का आशीर्वाद दिया।

लंगूर बने बच्चे उनके माता-पिता तथा बजरंगी सेना में शामिल सभी नंगे पांव अपनी धार्मिक परंपरा को निभा कर आनंद महसूस कर रहे थे। बजरंगी सेना का श्री बावा लाल दयाल जी के दरबार में महंत अनंतदास जी ने स्वागत किया। महंत अनंत दास जी ने कहा कि धार्मिक प्रवृत्ति के साथ ही समाज में समानता का वातावरण पैदा होता है। इस अवसर पर विक्की दत्ता, महंत राघव सेठ मौजूद थे। श्री बड़ा हनुमान मंदिर में कांग्रेसी नेत्री सुरभि वर्मा ने भी माथा टेका। श्री गिरिराज सेवा संघ के संजय मेहरा ने सुरभि वर्मा का स्वागत किया।

Edited By: Jagran