जागरण संवाददाता, अमृतसर: साल 2012 बैच की आइपीएस अधिकारी ज्योति मट्टू ने सोमवार को अमृतसर और तरनतारन के सेक्रेट्री रिजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी (आरटीए) का पदभार संभाल लिया। पीसीएस अधिकारी दरबारा सिंह का शुक्रवार को जालंधर में बतौर डिप्टी डायरेक्टर लोकल बॉडी के रूप में तबादला होने के बाद यह पद रिक्त था।

दसूहा में एसडीएम के रूप में तैनात ज्योति मंट्टू ने आज पद संभालने के तुरंत बाद स्टाफ के साथ अलग-अलग बैठकें कीं। मट्टू ने बताया कि इससे पहले भी दसूहा में बतौर एसडीएम काम करते हुए आरटीए विभाग की जिम्मेवारी उनके पास थी। अब उन्हें यह जिम्मेदारी गुरु नगरी अमृतसर के साथ-साथ तरनतारन की भी दी गई है। उन्होंने कहा कि पद संभालने के बाद उन्होंने अपने स्टाफ को सख्त हिदायतें कर दी हैं कि कहीं भी गड़बड़ी न मिले। लोगों को लाइसेंस बनवाने या गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन के लिए किसी भी तरह की मुश्किलें नहीं आने दी जाएंगी। लाइसेंसों के लिए मौजूदा में सिर्फ 20 आवेदन मिलने को लेकर उन्होंने कहा कि वह इस संबंधी बात करेंगी। यह मामला पूरी तरह से टेक्निकल है। इस वक्त देश की सबसे बड़ी समस्या कोविड-19 है तो इसके लिए वह अमृतसर और तरनतारन के लोगों से अपील करती हैं कि वे इसका खास ध्यान रखें।

गाड़ियों का जुर्माना भरने वाली विडो के सामने शारीरिक दूरी की रोजाना धज्जियां उड़ने के मामले में मंट्टू ने कहा कि वह इस संबंधी पुलिस कमिश्नर डॉ. सुखचैन सिंह गिल के साथ बात करेंगी कि उन्हें एक या दो गार्ड दिए जाएं। वे सुबह नौ से सायं पांच बजे तक उनके कार्यालय के बाहर मास्क और शारीरिक दूरी का उल्लंघन करने वालों का ध्यान रखेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!