संवाद सहयोगी, अमृतसर : बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक दशहरा पर्व देश के कोने-कोने में धूमधाम से मनाया जाता है। इस पर्व से हमें भगवान श्री राम जी के आदर्श पर चलने की प्रेरणा मिलती है। भगवान श्री राम जी, जिन्होंने बुराई पर अच्छाई की विजय का परचम लहराया। इसी प्रकार हम सभी को अच्छाई के मार्ग पर चलते हुए हर बुराई के खत्म करने के लिए भगवान श्री राम जी के आदर्शों की पालना करना होगा। यह शब्द पूर्व आइजी डा. कुंवर विजय प्रताप सिंह ने कहे। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में अनेक सामाजिक बुराइयां देश व समाज को अंदर से खोखला कर रही हैं। मौजूदा समय में दहेज प्रथा, बाल विवाह, कन्या भ्रूण हत्या, अशिक्षा, रिश्वतखोरी, भ्रष्टाचार, नशा आदि के अलावा अनेक सामाजिक बुराइयां समाज पर हावी हो रही हैं और इन बुराइयों को जड़ से खत्म करना समय की जरूरत है। देश की जनता दशहरे पर इन सभी सामाजिक बुराइयों को खत्म करने का संकल्प ले, क्योंकि वर्तमान समय में ऐसी सामाजिक बुराइयां देश की उन्नति और खुशहाली में बाधा है। डा. कुंवर विजय प्रताप सिंह ने कहा कि आज हर नागरिक को इन बुराइयों के खात्मे के प्रति खुद भी आगे आना होगा।

Edited By: Jagran