जासं, अमृतसर : रमदासा थानांतर्गत पड़ती गगोमाहल पुलिस चौकी के इंचार्ज एएसआइ सुखविदर सिंह को बुधवार देर रात सस्पेंड कर दिया गया है। आरोप है कि एएसआइ ने कांग्रेस और अकाली दल में हुए झगड़े में सुनवाई के दौरान कांग्रेस पार्टी के नेता से पुलिस चौकी में एसी लगवा लिया था। इस बाबत अकाली दल के नेताओं ने कुछ सुबूत भी एकत्र कर एसएसपी को दिए थे। एसएसपी विक्रमजीत दुग्गल ने बताया कि मामले की जांच के बाद एएसआइ सुखविदर सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक, लोकसभा चुनाव के दौरान रमदास इलाके में अकाली दल और कांग्रेस नेताओं के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ रमदास थाने में शिकायतें दी थी। थाना प्रभारी के आदेश पर शिकायतों को गगोमाहल पुलिस चौकी में रैफर कर दिया गया था। तब से मामले सुनवाई चल रही थी। इस बीच एएसआई सुखविदर सिंह ने अकाली दल के लोगों की बात को टाल मटोल करना शुरू कर दिया। अकाली दल के नेता धर्मेंद्र सिंह को पता चला था कि कांग्रेसी नेता से एएसआई सुखविदर सिंह ने अपनी पुलिस चौकी में एसी लगवा लिया है। बताया जा रहा है कि इस बाबत अकाली दल के वर्करों ने कुछ सुबूत भी एकत्र किए और उन्हें एसएसपी देहाती विक्रमजीत दुग्गल को सौंपे थे। एसएसपी ने डीएसपी अजनाला हरप्रीत सिंह को जांच के आदेश दिए थे। कुछ ही दिनों की जांच के बाद सारा मामला साफ हो गया। पता चला है कि डीएसपी ने बुधवार की सुबह रिपोर्ट तैयार कर एसएसपी कार्यालय को भेज दी थी। एसएसपी ने कार्रवाई करते हुए बुधवार की देर रात एएसआइ सुखविदर सिंह को सस्पेंड कर दिया।

एएसआइ सुखदेव को भी किया गया था सस्पेंड

पुलिस चौकी गगोमाहल में तैनात एएसआइ सुखदेव सिंह को भी कुछ दिन पहले एसएसपी विक्रमजीत दुग्गल ने सस्पेंड कर दिया था। एएसआइ सुखदेव सिंह पर आरोप था कि उन्होंने चंद पैसों के लालच में पड़कर तेजाब पीड़िताओं के हक में बनाई गई रिपोर्ट को बदल दिया था। इससे आरोपित पक्ष को अदालत में काफी लाभ मिलना था, लेकिन मामले की भनक समय रहते एसएसपी को लग गई और उन्होंने जांच के बाद उक्त एएसआई पर कार्रवाई की थी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran