— स्वास्थ्य विभाग की बायोमेट्रिक मशीनें बनीं डॉक्टरों व स्टाफ के लिए परेशानी का पर्याय

जागरण संवाददाता, अमृतसर

स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित जलियांवाला बाग मेमोरियल सिविल अस्पताल व सिविल सर्जन कार्यालय में लगाई गईं बायोमेट्रिक मशीनें स्टाफ के लिए मुसीबत बन गई हैं। इन मशीनों पर अटेंडेंस पंच करने करने के लिए स्टाफ को पहले अपने आधार कार्ड का नंबर दर्ज करना पड़ता है। यही वजह है कि बुधवार को सिविल अस्पताल व सिविल सर्जन कार्यालय के डॉक्टर, अधिकारी व स्टाफ सुबह ग्यारह बजे तक हाजिरी पंच करते रहे।

दरअसल, स्वास्थ्य विभाग ने डॉक्टरों व स्टाफ को समय का पाबंद बनाने के लिए सिविल अस्पताल एवं सिविल सर्जन कार्यालय में चार बायोमेट्रिक मशीनें लगाई थीं। इनमें से एक मशीन खराब है, जबकि बाकी तीन मशीनों में हाजिरी पंच करने वाले स्टाफ को पहले अपना आधार नंबर दर्ज करना पड़ रहा है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि बायोमेट्रिक मशीन की अभी पूरी तरह अपग्रेडेशन नहीं की गई। एक स्टाफ सदस्य को आधार नंबर दर्ज करने में कम से कम तीस सेकेंड का समय लगता है।

इंप्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन स्वास्थ्य विभाग के चेयरमैन राकेश शर्मा ने कहा कि आधार नंबर भरने से स्टाफ को भारी परेशानी आ रही है। इससे काफी समय बर्बाद हो रहा है। सिविल सर्जन डॉ. हरदीप ¨सह का कहना है कि अभी सिस्टम नया है। धीरे-धीरे सब ठीक हो जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!