जागरण संवाददाता, अमृतसर : कोरोना संक्रमण अध्यापकों का पीछा नहीं छोड़ रहा। वीरवार को जिले में सात अध्यापक व तीन छात्र कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। इनमें सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल जगदेव कलां से एक अध्यापक व इसी स्कूल के तीन विद्यार्थी, सरकारी एलिमेंट्री स्कूल मकबूलपुरा से पांच अध्यापक व एक कुक, भापा हाई स्कूल शास्त्री नगर से एक अध्यापक, दिल्ली पब्लिक स्कूल मानांवाला का एक कर्मचारी व सरकारी स्कूल वरपाल का एक अध्यापक शामिल है। स्वास्थ्य विभाग ने आनन फानन में इन शिक्षण संस्थानों को दो दिन के लिए बंद करवा दिया है। सैनिटाइजेशन करवाई जा रही है। वही संदिग्ध लक्षण होने पर स्टाफ व विद्यार्थियों के कोरोना टेस्ट करने की बात कही है।

दरअसल, फरवरी माह की शुरूआत में अंतिम सांसें गिन रहा कोरोना वायरस अब बहुत तेजी से बढ़ रहा है। अमृतसर में 19 फरवरी से पहले तक कोरोना वायरस लगातार कमजोर दिखाई देने लगा, पर 20 फरवरी को कोरोना ने करवट बदली और एक ही दिन में 35 नए पाजिटिव रिपोर्ट हुए। शक्र है : वीरवार को 47 लोग स्वस्थ हुए

जिले में वीरवार को 51 नए पाजिटिव रिपोर्ट हुए हैं। इनमें कम्युनिटी से 32 हैं, जबकि कांटैक्ट से 19। राहत भरी बात है कि 47 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। अब कुल संक्रमितों की संख्या 15942 है। इनमें से 14826 स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि एक्टिव केस 516 हैं। पंजाब में कोरोना का पहला मरीज अमृतसर में ही रिपोर्ट हुआ था। 7 मार्च को इटली से लौटा यह बुजुर्ग अमृतसर एयरपोर्ट पर कोरोना पाजिटिव पाया गया था। इसके बाद गुरुनानक देव अस्पताल में उपचाराधीन रहा। होशियारपुर के रहने वाले इस बुजुर्ग ने तकरीबन बीस दिन बाद कोरोना को मात दे दी थी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप