जेएनएन, अमृतसर। नशे की आदी युवती ने जंजीर खोल खुद ही अपनी जिंदगी मुक्त कर ली। वह घर छोड़कर थाने पहुंची। शिकायत दी कि मेरी बहन मुझे तंग करती है। मैं अपनी मर्जी से घर छोड़कर आई हूं। दूसरी तरफ युवती की मां ने भी पुलिस में शिकायत दी है कि युवती अपने नशा तस्कर प्रेमी के साथ फरार हुई है। इन दोनों शिकायतों को लेकर पुलिस भी पशोपेश की स्थिति में आ गई है। कौन सच्चा-कौन झूठा, यह सवाल सभी को परेशान कर रहा है।

दरअसल, जंजीर में बंधी यह युवती नशा सेवन की आदी है। रंजीत एवेन्यू स्थित फ्लेट्स में रहने वाली इस युवती की मां ने उसे जंजीर में बांधकर रखा था। यह मामला शासन प्रशासन तक भी पहुंचा, पर नेता व अधिकारी परिवार को ढांढस बंधाकर चले गए। युवती की मां ने मजबूरी जाहिर करते हुए कहा था कि यदि वह इसे जंजीर से बांधकर न रखेगी तो वह भाग जाएगी और फिर से नशा करने लगेगी। युवती के लिए सरकार ने डॉक्टर की घर में ही व्यवस्था कर दी थी। मेडिकल कॉलेज के नशा मुक्ति केंद्र के डॉक्टर प्रतिदिन यहां आकर उसका ट्रीटमेंट भी कर रहे थे।

इसी बीच, युवती बीते रविवार को किसी तरह जंजीर खोलकर घर से निकल गई। इसके बाद घर में बवाल मच गया। युवती की मां ने थाना रंजीत एवेन्यू पहुंची और शिकायत दर्ज करवाई कि वह किसी नशा तस्कर के साथ भाग गई है। इसके बाद अचानक युवती भी थाने में पहुंच गई। उसने भी लिखकर दिया कि वह किसी के साथ भागी नहीं, बल्कि दुखी होकर घर छोड़ा है। उसकी बहन उसे तंग करती है। वह बिल्कुल ठीक हो चुकी है और नशा छोड़ चुकी है लेकिन फिर भी उसे जंजीरों से बांधकर रखा गया है। उसने यह भी दावा कि कि उसका चेकअप करवा लिया जाए, शरीर में नशे की बिल्कुल भी मात्रा नहीं मिलेगी। इधर, थाना प्रभारी वारिस मसीह ने कहा कि दोनों शिकायतों की जांच चल रही है।

बड़े घर की लड़की ने लगाई थी लत

बता दें, जब मां द्वारा जंजीरों में बांध कर रखी गई 24 साल की युवती की खबर चर्चाओं में आई थी तो युवती ने पुलिस और अमीर घर की एक लड़की को लेकर सनसनीखेज खुलासे किए थे। युवती ने खुलासा किया कि चंडीगढ़ में एक अमीर घर की लड़की ने उसे नशे की लत लगाई और चंडीगढ़ पुलिस की भी नशे सौदागरों से मिलीभगत है। युवती ने कहा, ‘मैं नशे से हमेशा दूर रहना चाहती थी। चंडीगढ़ में जॉब के दौरान तनाव में रहने लगी थी। बड़े घर की एक लड़की ने मुझे नशे की डोज दिखाकर कहा कि इसे अपने शरीर में उतार लो, सारी चिंताओं का अंत हो जाएगा। नशे की डोज शरीर में उतरते ही दिमाग में मदहोशी छा गई। जो चिंताएं दिमाग में थीं, वह एकाएक गायब हो गईं। बस, इसी एक डोज ने मुझे नशेड़ी बना दिया।’

चंडीगढ़ में ब्यूटी पार्लर में करती थी काम

लड़की की मां ने बताया कि उनकी बेटी चंडीगढ़ में ब्यूटी पार्लर में काम करती थी। अच्छा-खासा वेतन मिलता था। हमेशा खुश रहने वाली मेरी बेटी के चेहरे पर आज सिर्फ उदासी है। मां ने कहा, ब्यूटी पार्लर में कई लड़कियां काम सीख रही थीं। कुछ बड़े घर की लड़कियां भी ब्यूटी पार्लर में आती थीं। इन्हीं लड़कियों में से एक ने मेरी बेटी को उदास देखा तो कारण पूछा। बेटी ने उससे कहा कि काम कुछ ज्यादा है और कोई बात नहीं। इस लड़की ने मेरी बेटी को परेशानी दूर करने के लिए नशे की डोज दे दी। वह खुद नशे  की आदी थी। मां ने कहा, ब्यूटी पार्लर में काम करने वाली कुछ लड़कियां भी नशा करती थीं। इन्हीं की देखादेखी इसे भी नशे की लत लग गई। धीरे-धीरे बेटी ने नशे की डोज बढ़ा दी। नशा पूर्ति के लिए घर का सामान बेच देती है। एक बार घर से चली जाए तो नशा करके ही लौटती है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!