नवीन राजपूत, अमृतसर

खेमकरण और कलानौर सेक्टर में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ ने ड्रोन के जरिए 50 पिस्तौल और 120 किलो हेरोइन लगभग तीन महीने पहले उतारे थे। लेकिन यह हथियार किसे पहुंचाए जाने थे इसका अभी तक सुरक्षा एजेंसियां पता नहीं लगा पाई हैं। स्टेट स्पेशल आपरेशन सेल (एसएसओसी) ने उक्त हथियारों की खेप नौ जून की रात कत्थूनंगल के पास कार से बरामद की थी।

स्टेट स्पेशल आपरेशन सेल ने बुधवार की शाम फिरोजपुर जेल में बंद मान सिंह उर्फ निहंग को प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया है। इसके बाद निहंग को न्यायधीश मीनाक्षी महाजन की कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपित को 16 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर भेजा है। जांच में सामने आया है कि कुछ दिन पहले पकड़ी गई 50 पिस्तौल पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ ने भारत के खेमकरण और कलानौर सेक्टर में लगभग तीन महीने पहले ड्रोन के मार्फत उतारे थे। यही नहीं उसी ड्रोन के जरिए पाकिस्तानी तस्करों ने लगभग 120 किलो हेरोइन भी भारतीय क्षेत्र में पहुंचाई। इसके बाद भारतीय तस्करों ने उक्त खेप को सीमावर्ती इलाकों में ठिकाने लगा दिया, ताकि मौका मिलते ही हथियार और हेरोइन को आगे पहुंचाया जा सके।

हथियारों की खेप के साथ पकड़ा गया बटाला के जगजीत सिंह को अभी तक यह पता नहीं लग सका है कि उक्त खेप उसे किस ने सौंपी थी और उसे आगे कहां पहुंचाया जाना था। अब पुलिस के हाथ कड़ी लगी है कि फिरोजपुर जेल में बंद मान सिंह उर्फ निहंग के भी यूएस में बैठे धर्मनजीत सिंह उर्फ धर्मन के जगजीत सिंह ही नहीं बल्कि निहंग के साथ भी संपर्क हैं।

एसएसओसी ने जेल से की छठी गिरफ्तारी बता दें उक्त अंतरराष्ट्रीय मामले को देखते ही स्टेट स्पेशल आपरेशन सेल ने पंजाब के विभिन्न जेलों से बुधवार को छठी गिरफ्तारी की है। लेकिन उक्त मामले में अभी तक कई कड़ियां जोड़नी बाकी हैं। मान सिंह उर्फ निहंग को जेल से लाने से पहले पुलिस अमृतसर जेल से लवदीप सिंह उर्फ लाला, जोबनजीत सिंह, गुरदासपुर जेल से जसविदर सिंह उर्फ जग्गा, पट्टी जेल से लवप्रीत सिंह और फरीदकोट जेल से दिलजान सिंह उर्फ जानू को प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया जा चुका है।

मान सिंह ने साल 2018 में उतरवाए थे हथियार

मान सिंह उर्फ निहंग साल 2016 से जेल में देश विरोधी गतिविधियों में शामिल है। साल 2018 में मान सिंह ने जेल में रहते हुए आकाश दीप सिंह की फोन के जरिए पाकिस्तानी तस्करों से बात करवाई थी। आकाशदीप सिंह ने जेल से जमानत पर निकलते ही पाक से ड्रोन के जरिए एके टाइप की पांच राइफलें, पिस्तौल और गोली सिक्का ड्रोन से मंगवाया था। उक्त मामले में लगभग 12 आरोपितों की गिरफ्तारी के बीच राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने पाकिस्तान के क्रैश ड्रोन के अवशेष भी बरामद किए थे।

Edited By: Jagran