अमृतसर/पठानकोट, जेएनएन। भारत खासकर पंजाब मे आतंकी वारदात करने के लिए पाकिस्तान हरसंभव नापाक कोशिश कर रहा है। उसने सीमा पार से हथियार भेजने के लिए ड्रोन का इस्‍तेमाल करना शुरू किया है। पिछले दिनों सीमावर्ती खेमकरण क्षेत्र में उसने जिस ड्राेन से हथियारों की बड़ी खेप को भेजा था उसे पंजाब पुलिस ने बरामद कर लिया है। पंजाब पुलिस की खुफिया शाखा स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल (एसएसओसी) ने यह ड्रोन भारत-पाक सीमा पर स्थित जिला तरनतारन के झब्बाल क्षेत्र से बरामद किया है। इन सबके बीच सनसनीखेज खुलासा हुआ है कि आतंकियों के निशाने पर अब माधोपुर सैन्‍य छावनी है। पूरे छावनी क्षेत्र में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है और ड्रोन पर भी खास नजर रखी जा रही है। पूरे घटनाक्रम में पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मदद मांगी है।

एसएसओसी को मिली बड़ी सफलता, आतंकियों ने ड्रोन को जलाने का किया था प्रयास

ड्रोन की बरामदगी पिछले दिनों गिरफ्तार किए गए खलिस्‍तानी आतंकियों से पूछताछ में खुलासे के बाद की है। हथियारों के साथ पकड़े गए खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (केजेडएफ) के आतंकियों ने गिरफ्तारी से पहले इस ड्रोन को जलाकर नष्ट करने की कोशिश भी की थी, लेकिन जब यह पूरी तरह जल नहीं पाया तो उसे झब्बाल के एक खाली गोदाम में छिपाकर रख दिया गया।

रिमांड के दौरान पूछताछ में आतंकी आकाशदीप सिंह और उसके साथियों ने ड्रोन और इससे भेजे गए हथियारों के बारे में राज खोला। आतंकियाें ने हथियार मिलने के बाद ड्रोन को जलाने का प्रयास किया था। इसके बाद एसएसओसी की टीम ने यह अधजला ड्रोन एक गोदाम से बरामद किया। एसएसओसी के एक अधिकारी के अनुसार ड्रोन को जांच के लिए फॉरेंसिक टीम के हवाले कर दिया गया है। जांच में यह पता करने की कोशिश की जा रही है कि  आइएसआइ की ओर से भेजे गए इस ड्रोन में किस तरह के उपकरण फिट किए गए थे। यह भी

10 किलो वजनी ड्रोन, आसानी  से उठा सकता है साढ़े चार किलो की एके-47

पकड़े गए ड्रोन का वजन करीब 10 किलो है। यह एक बार में साढ़े चार किलो की एक एक-47 राइफल को उड़ाकर ला सकता है। अब इस बात को लेकर पूछताछ की जा रही है कि यह ड्रोन कितनी बार कंटीली तार पार करके भारत आया। केवल एक ही ड्रोन इस काम में लगाया गया था या ड्रोन की संख्या इससे ज्यादा हो सकती है।

इस बात की आशंका भी जताई जा रही है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ की ओर से तीन-चार तरह के ड्रोन में जाली करंसी और हथियार भेजे गए होंगे। इसे लेकर ज्वाइंट इंटेरोगेशन सेंटर (जेआइसी) में आतंकी आकाशदीप सिंह उर्फ आकाश, बलवंत सिंह उर्फ बाबा उर्फ निहंग, हरभजन सिंह, बलबीर सिंह और मान   सिंह से पूछताछ जारी है।   

पूछताछ में आतंकियों ने माना, जर्मनी में रह रहे बग्गा ने आकाशदीप का पाक में छिपे नीटा से करवाया संपर्क    आकाशदीप ने पूछताछ में माना कि पाकिस्तान में बैठे खालिस्तानी समर्थक रंजीत सिंह नीटा से वह कई बार फोन पर बात कर चुका है। उसे नीटा का नंबर जर्मनी में रह रहे आतंकी गुरमीत सिंह उर्फ बग्गा ने दिया था। बग्गा के इशारे पर नीटा आइएसआइ को हथियार सीमा पार पहुंचाने के लिए सुरक्षित जगह बता रहा था। वहीं इन हथियारों की खेप के लिए लोकेशन और टाइम आकाशदीप खुद सेट करता था।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मांगी मदद

उधर, पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ड्रोन का मामला केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी उठाया है। उन्होंने ट्वीट किया, 'अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तानी ड्रोन से हथियारों व गोला-बारूद की खेप भारत में गिराने की घटना बेहद गंभीर है। यह पाकिस्तान का नया हथकंथा है। मैंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि इस मामले को जल्द संभाला जाए।'

---

 आतंकियों के खास निशाने पर है माधोपुर छावनी, हाई अलर्ट जारी , ड्रोन से रखी जा रही निगाह

पठानकोट/माधोपुर। दूसरी ओर, खुलासा हुआ हे कि माधोपुर छावनी आतंकियों के निशाने पर है। दो हफ्ते पहले लखनपुर बैरियर पर एके-56 और एके-47 सहित तीन आतंकियों के पकड़े जाने के बाद माधोपुर छावनी को हाई अलर्ट पर रखा गया है। सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि दीनानगर, पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन और कालू चक्क और जम्मू के सांबा में हमले के बाद आतंकियों के निशाने पर माधोपुर छावनी है। खुफिया एजेंसियों की ओर से इस बारे में इनपुट भी मिले हैं। छावनी की सुरक्षा को पहले से और कड़ा कर दिया गया है।

सैन्य छावनी के आसपास के क्षेत्रों में ड्रोन से गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। छावनी में काम करने वाले लोगों की अंदर जाने से पहले पूरी जांच की जा रही है। सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि पाकिस्तान सीमांत क्षेत्रों को टारगेट करने की जगह अब सैन्य छावनियों को निशाना बनाना चाहता है। जम्मू-कश्मीर की सीमा पर सख्ती के कारण आतंकी वहां से घुसपैठ नहीं कर पा रहे हैं। अब आतंकी पंजाब के रास्ते किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। 29 सितंबर से शुरू होने वाले त्योहारी सीजन को लेकर भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। पंजाब से जम्मू की ओर जाने वाले वाहनों की बारीकी से जांच की जा रही है।

माधोपुर नाके पर लगाई हैलोजन लाइट

लखनपुर में हथियारों के साथ तीन आतंकियों के पकड़े जाने के बाद पंजाब के माधोपुर नाके पर वाहनों की जांच के लिए हाईमास्ट लाइट न होने की कमी को दैनिक जागरण ने उजागर किया गया था। अब जिला पुलिस ने नाके पर पंजाब से जम्मू जाने वाले रास्ते पर रात को वाहनों की जांच के लिए हैलोजन लाइटें लगा दी हैं।

श्री गुरु रामदास जी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर अलर्ट, बढ़ाई सुरक्षा

अमृतसर। आतंकी हमले के खतरे के इनपुट के बाद श्री गुरु रामदास जी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर अलर्ट जारी कर दिया गया है। गृह मंत्रालय के अलर्ट के बाद एयरपोर्ट की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। भारत-पाक सीमा पर संदिग्धों की हथियारों सहित घुसपैठ की सूचना है। सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स (सीआइएसएफ) के अलावा पंजाब पुलिस फोर्स और इनके कमांडोज व केंद्रीय खुफिया एजेंसियां भी अमृतसर एयरपोर्ट पर सक्रिय हो गई हैं।

यह भी पढ़ें: तीन घंटे तक ऑटो पर घूमती रही युवती, किराया मांगा तो रोड पर टीशर्ट उतार किया हंगामा, जानें क्‍या है पूरा मामला

---

पटियाला में दूसरे दिन भी आर्मी एरिया में रही सख्ती

पटियाला: आर्मी एरिया में संदिग्ध लोगों के पकड़े जाने के मामलों के बाद रेड अलर्ट के चलते मंगलवार को भी क्षैत्र में सख्ती जारी रही। गेट पर आने जाने के लिए लोगों को मंजूरी तो दी, लेकिन वही लोग गेट के अंदर दाखिल हो सके, जिनके पास आर्मी से संबंधित दस्तावेज थे।

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान का नापाक चेहरा फिर उजागर, खालिस्‍तानी आतंकियों ने ISI की करतूत का किया खुलासा


 ------------

'' ड्रोन के जरिए हथियार आना पंजाब पुलिस, बीएसएफ व एयरफोर्स के लिए बड़ी चुनौती है। इस पर हम मिलकर काम कर रहे हैं। रेफरेंडम 2020 का पंजाब में कोई असर नहीं है।

                                                                                                       - दिनकर गुप्ता, डीजीपी पंजाब।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!