जागरण संवाददाता, अमृतसर

भराड़ीवाल की रेखा को प्यार में दोहरा धोखा हुआ। शादी से इनकार करने पर जब उसके प्रेमी दीपक ने इनकार कर दिया तो उसने दीपक पर पर्चा दर्ज करवाया। बाद में दीपक के पारिवारिक सदस्यों ने एफआइआर खारिज कराने की शर्त पर रेखा से दीपक की शादी भी करवा दी। लेकिन केस खारिज होने के बाद दीपक ने रेखा को धोखे में रख जालंधर में किसी लड़की से दूसरी शादी कर ली है। अब लाल चूड़ा पहने रेखा ने फिर से इंसाफ पाने के लिए पुलिस थाने और अदालत का दरवाजा खटखटाया है।

मामले की पैरवी कर रहे वकील नवीन महाजन ने बताया कि जब पुलिस से रेखा को इंसाफ नहीं मिला तो पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। कोर्ट ने पुलिस कमिश्नर को मामले की जांच का आदेश दिया है। वहीं दूसरी तरफ एएसआइ रेशम ¨सह ने बताया कि रेखा को तीन-चार बार सबूत लेकर थाने आने के लिए कहा गया है, लेकिन वह अभी तक नहीं पहुंची।

गांव भराड़ीवाल निवासी रेखा ने बताया कि लगभग तीन साल पहले उसकी मुलाकात जहाजगढ़ के पास रहने वाले दीपक से हुई थी। रेखा ने आरोप लगाया कि शादी का झांसा देकर दीपक ने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए और फिर शादी से मुकर गया। इसके बाद उसने दीपक पर धोखाधड़ी का मामला भी दर्ज करवाया था। लगभग आठ महीने उसने एफआइआर खारिज करने को लेकर हाईकोर्ट याचिका दायर कर दी थी। दूसरी तरफ दीपक के परिवार ने इस बीच उसकी शादी करवा दी। वह दोनों किराये के घर में रहने लगे। जैसे ही एफआइआर खारिज हुई दीपक और उसके परिवार का रवैया बदल गया। दीपक मारपीट करने लगा और एक दिन वह उसे किराये के मकान में ही छोड़कर भाग गया। अब उसे पता चला है कि दीपक ने जालंधर में किसी अन्य लड़की से शादी कर ली है। रेखा ने बताया कि वह अपनी सौत (दीपक की दूसरी पत्नी) के परिवार के सदस्यों तक पहुंच चुकी है। जहां से उसे दीपक की दूसरी शादी के फोटो मिले हैं। रेखा ने आरोप लगाया कि एक पार्षद और महिला प्रधान ने सारे षड्यंत्र में दीपक का साथ दिया है। रेखा ने बताया कि वह पार्षद और महिला प्रधान के खिलाफ सीएम और डीजीपी को पत्र लिखेगी।

Posted By: Jagran