जागरण संवाददाता, अमृतसर: पंजाब अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन प्रोफेसर इमैनुअल नाहर ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से चंडीगढ़ में मुलाकात की। प्रो. नाहर में पंजाब में अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित वर्गों की समस्याओं के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत करवाया। प्रो. नाहर ने कहा कि पंजाब सरकार सभी जिलों के डिप्टी कमिश्नर को आदेश जारी करे कि अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित लोगों को जायज काम करवाने में कोई परेशानी ना आए।

अल्पसंख्यकों के बच्चों को एससी-एसटी भाईचारे की तरह शिक्षा की सुविधा दी जाए। जिनके अपने घर नहीं हैं उन्हें पांच-पांच मरले के प्लाट दिए जाएं। पंजाब सरकार को ऐसा कानून बनाना चाहिए जिसके तहत गिरिजाघर, मस्जिद व स्कूल आदि सारे मिशन की जमीन जायदाद की सुरक्षा सुनिश्चित हो। ईसाई व मुस्लिम भाईचारे के कब्रिस्तान की चारदीवारी व रखरखाव के लिए ग्रांट जारी हो। हर जिले में एक कम्युनिटी हाल बनाया जाए। पंजाब में भी अल्पसंख्यकों को नौकरियों में आरक्षण दिया जाए। प्रो. नाहर ने कहा कि सरकारी अधिकारी व गांवों की पंचायतों के मेंबर यह कह रहे हैं कि अल्पसंख्यकों के लिए ये स्कीमें नहीं है। कई तहसीलदार बीसी सर्टिफिकेट बनाने में आनाकानी कर रहे हैं उनको आदेश जारी कर कार्यप्रणाली में सुधार लाने को कहें।

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने विश्वास दिलाया कि जल्दी ही अल्पसंख्यक की समस्याओं का समाधान किया जाएगा। वह जल्दी ही कमीशन के चेयरमैन सहित उनके साथियों के साथ चंडीगढ़ में बैठक बुलाएंगे। इसमें अल्पसंख्यक आयोग के प्रतिनिधियों के अलावा क्रिश्चियन धार्मिक गुरुओं व क्रिश्चियन कम्युनिटी के नेताओं के साथ चंडीगढ़ में बैठक की जाएगी।

Edited By: Jagran