जागरण संवाददाता अमृतसर : पिछले सात महीने से वेतन न मिलने के कारण बीएसएनल कैजुअल कांट्रैक्ट वर्कर्स यूनियन की गेट रैली शुक्रवार को भी जारी रही। यूनियन के सदस्यों ने भारती संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

रंजीत एवेन्यू स्थित बीएसएनएल के कार्यालय के बाहर शनिवार तीसरे दिन आयोजित गेट रैली की अध्यक्षता कर रहे यूनियन के महासचिव जसकिरण सिंह जज ने बताया कि यूनियन के सदस्य पिछले लंबे समय से बीएसएनएल में कैजुअल कांटेक्ट वर्कर के तौर पर सेवा निभा रहे हैं, जिनका बिना किसी कारण वेतन रोक कर उन्हें नौकरी से निकालने का शड्यंत्र रचा जा रहा है। सरकार व विभाग की कार्यप्रणाली को देखते हुए बयूनियन के सदस्यों में खासा रोष पाया जा रहा है। पिछले सात महीने से उन्हें वेतन नहीं मिलने की वजह से घरों में चूल्हे ठंडे पड़े हुए हैं, जिसके चलते मजबूरी में उन्हें गेट रैली करने का फैसला लिया। कर्मचारियों का विरोध वेतन जारी होने के बाद ही उठाया जाएगा।

अधिकारियों ने मांगा कल तक का समय

जज ने बताया कि यूनियन के सीनियर पदाधिकारियों की बीएसएनल के उच्चाधिकारियों के साथ बैठकों का सिलसिला चल रहा है, जोकि विभागीय लापरवाही के चलते किसी नतीजे तक नहीं पहुंच रहा है। अब यूनियन भविष्य में विरोध के लिए नई रणनीति बना रही है। यदि जल्द ही सभी कर्मचारियों को वेतन मुहैया न हुआ तो यूनियन को मजबूरी में संघर्ष को तेज करना पड़ेगा। हालांकि बीएसएनएल के अधिकारियों ने सोमवार का समय मांगा है ताकि कर्मचारियों की समस्या का हल निकाला जा सके। इस मौके पर मदन लाल, परमिदर सिंह, दिलबाग सिंह, सुखविदर सिंह, हरदेव सिंह, लखबीर सिंह आदि मौजूद थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!