जेएनएन, अमृतसर। आप के वरिष्ठ नेता व सांसद भगवंत मान ने कहा कि सुखपाल खैहरा अगर अनुशासन में रहकर काम करें तो पार्टी के दरवाजे उनके लिए खुले हैं। पार्टी सबसे ऊपर है। पार्टी के नियम पहले हैं व्यक्ति बाद में। मान अमृतसर में आप के लोकसभा प्रत्याशी कुलदीप सिंह धालीवाल के कार्यालय का उद्घाटन करने पहुंचे थे।

भगवंत मान ने कहा पार्टी अनुशासन से चलती है। खैहरा और उसके साथियों को भी अनुशासन में रहकर ही काम करना होगा। किसी भी पार्टी को हाईकमान ही चलाता है। खैहरा जिस कांग्रेस में रह चुके हैं, उसके सभी फैसले भी हाईकमान ही करता है। पार्टी में कोई तानाशाही नहीं है। पार्टी की राज्य इकाई बहुत सारे फैसले खुद ही करती है। खैहरा को भुलत्थ से टिकट हाईकमान ने नहीं राज्य इकाई ने ही दिया था। मान ने कहा खैहरा ने लोक इंसाफ पार्टी के बैंस भाइयों, भाजपा और छोटेपुर से गठजोड़ किया है। खैहरा आप को नुकसान पहुंचाने की बात कर रहे हैं, लेकिन पार्टी का भविष्य लोकसभा चुनाव तय करेंगे।

टकसाली देंगे जीजा-साला को पटखनी

अकाली दल में मचे घमासान पर मान ने कहा कि अकाली दल असल में संघर्षों से पैदा हुआ है। इस संघर्ष में टकसाली नेताओं का बड़ा योगदान है। आज जीजा-साला ने 1920 में बने अकाली दल का 2019 में भोग डालने का फैसला ले लिया है। टकसाली नेता इन्हें पटकनी जरूर देंगे। 2019 में अकाली दल पूरी तरह राजनीति से खत्म हो जाएगा।

एसजीपीसी की किताबों में सिख इतिहास से छेड़छाड़

मान ने कहा कि अकाली दल और एसजीपीसी जिस सिख इतिहास से छेड़छाड़ के लिए आंदोलन की बात कर रहे हैं। खुद एसजीपीसी की प्रकाशित कई पुस्तकों में गुरु साहिब के इतिहास को गलत ढंग से पेश किया गया है।

नोटबंदी अपने आप में घोटाला

मान ने कहा कि मोदी सरकार की ओर से की गई नोटबंदी एक बड़ा घोटाला है। नोटबंदी में जो भी वादे किए गए थे वे एक भी पूरा नहीं हुआ है। विदेशों से काला धन नहीं आया। आर्थिक नीति पूरी तरह फेल हो गई। देश को मोदी सरकार नहीं अंबानी परिवार चला रहा है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt