जागरण संवाददाता, अमृतसर :

शहर के अलग-अलग आटो रिक्शा स्टैंड के ड्राइवरों की ओर से अपने आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए कापरेटिव सोसायटी बनाई गई। इस सोसायटी की ओर से स्मार्ट सिटी के राही प्रोजेक्ट में भी सहयोग करने की बात कही। इस संबंधी शुक्रवार को सोसायटी के सदस्यों ने मेयर करमजीत सिंह रिटू और कमिश्नर एमएस जग्गी ने रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट भी सौंपा। राही प्रोजेक्ट के तहत डीजल आटो को इलेक्ट्रिक में तब्दील किया जाना है।

सोसायटी के प्रधान बिक्रमजीत लाडी ने कहा कि शहर में 20 हजार से भी अधिक आटो ड्राइवर हैं, लेकिन कोई भी एक संगठन ना होने के कारण ड्राइवरों को पेश आने वाली मुश्किलों का हल नही हो पाता। इसलिए आटो रिक्शा ड्राईवरों के आर्थिक और सामाजिक विकास को ध्यान में रखते हुए इसका गठन किया गया है। रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र सौंपते हुए मेयर कर्मजीत सिंह रिंटू ने कहा कि यह देश की दूसरी आटो रिक्शा ड्राइवर कापरेटिव सोसायटी है। इससे पहले ऐसी सोसायटी सिर्फ केरल के कोच्चि शहर में ही थी । उन्होंने कहा कि भविष्य में सोसायटी को नगर निगम की ओर से शहर के विभिन्न स्थानों में स्टैंड के लिए जगह भी उपलब्ध करवाई जाएगी । इससे आम लोग निर्धारित स्थान से आटो ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि सोसायटी के सदस्यों के परिवार की महिलाओं के लिए भी मुफ्त में स्किल डेवलप कोर्स भी राही प्रोजेक्ट के तहत करवाए जाएंगे। ताकि वह भी स्वरोजगार करके परिवार का आर्थिक सहयोग कर सके।

स्मार्ट सिटी के सीईओ एमएस जग्गी ने बताया कि राही प्रोजेक्ट के तहत ई- आटो रिक्शा खरीदने के लिए 75000 रुपये की सब्सिडी और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से किफायती दरों पर लोन भी मुहैया करवाया जाएगा।

Edited By: Jagran