संवाद सहयोगी, अजनाला

बीते दिनों स्थानीय शहर के एक युवक द्वारा मकान मालिकों से आहत होकर आत्महत्या करने वाले युवक के परिजनों को अनपढ़ होने की सजा उस समय मिली, जब अजनाला सिटी पुलिस द्वारा मकान मालिकों पर कार्रवाई करने के बदले पीड़ित परिवार से समझौते के कागजात पर अंगूठा लगवा लिया गया। इस संबंध में ¨नरजन कुमार ने बताया कि कुछ दिन पहले उसके भाई मोहन कुमार ने मकान मालिकों से आहत होकर जहरीला पदार्थ निगल आत्महत्या कर ली थी। लेकिन 20 घंटे बीतने उपरांत भी वह अपने भाई का शव हासिल नही कर पाया था। इसके बाद अजनाला सिटी पुलिस ने निरंजन ¨सह को सिटी चौकी में बुलाया। निरंजन ¨सह का आरोप है कि उसने अजनाला सिटी प्रभारी एएसआइ रशपाल ¨सह को मकान मालिकों पर कानूनी कार्रवाई करने के लिए कहा था। लेकिन चौंकी प्रभारी ने उनकी अनपढ़ता का फायदा उठाते हुए पता नही कौन से कागजात पर अंगूठे लगवा लिए। निरंजन के मुताबिक अब जब वह कानूनी कार्रवाई के बारे में पूछने के लिए पुलिस चौंकी जाते है तो उन्हें केवल धक्के व धमकियां मिलती हैं। साथ ही कहा जाता है कि तुम खुद राजीनामे के लिए कागजात पर अंगूठे लगा कर गए थे। अब कुछ नही हो सकता। पीड़ित परिवार ने पुलिस के उच्च अधिकारियों से न्याय की गुहार लगाई है।

मामला गंभीर है जांच करेंगे: डीएसपी

डीएसपी अजनाला हरप्रीत ¨सह ने कहा कि मामला अभी उनके ध्यान में आया है। वह मामले की गंभीरता से जांच करवाएंगे जो भी पुलिस कर्मचारी दोषी पाया गया।,उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran