जेेेेएनएन, अमृतसर। फताहपुर केंद्रीय जेल ब्रेक मामले में पुलिस ने दो कैदियों और उन्हें पनाह देने वाले चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। कैदी जरनैल सिंह की गिरफ्तारी श्री आनंदपुर साहिब से की गई, जबकि उसके भाई गुरप्रीत सिंह को तरनतारन के सरहाली इलाके से काबू किया गया। तीसरे कैदी विशाल कुमार की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह-जगह छापे मार रही है।

पुलिस कमिश्नर सुखचैन सिंह गिल और डीसीपी मुखविंदर सिंह ने मीडिया को बताया कि ये कैदी 2 जनवरी को तड़के जेल की बैरक की दीवार तोड़कर फरार हुए थे। पुलिस के 200 से ज्यादा मुलाजिम पिछले छह दिन से जगह-जगह छापे मार रहे थे। वीरवार शाम पुलिस को पता चला कि जरनैल सिंह आनंदपुर साहिब में देखा गया है। पुलिस की टीम तत्काल वहां पहुंची और उसे दबोच लिया। जरनैल सिंह का भाई गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी तरनतारन जिले के सरहाली इलाके के जोड़ा गांव में छिपा था। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया।

जांच में सामने आया कि गुरप्रीत सिंह को उसके दोस्त शमशेर सिंह उर्फ शेरा और चौहला साहिब निवासी करनैल सिंह ने पनाह दी थी। दोनों उसकी आर्थिक रूप से मदद कर रहे थे। पुलिस ने इन्हें भी गिरफ्तार कर लिया है।

गुरप्रीत ने फेंकी पुलिसकर्मी पर गर्म चाय

जब पुलिस की टीम तरनतारन के जोड़ा गांव में छिपे गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी को काबू करने पहुंची तो वह मकान की छत पर बैठा था। आरोपित ने हाथ में पकड़ा गर्म चाय का गिलास चरणामृतबीर नाम के सिपाही के ऊपर फेंक दिया। सिपाही मामूली रूप से झुलस गया। इसके बाद गुरप्रीत सिंह भाग निकला, लेकिन पुलिस मुलाजिमों ने पीछा करके उसके दबोच लिया। अब तक पुलिस जरनैल सिंह, गुरप्रीत सिंह, शमशेर सिंह, करनैल सिंह, परमजीत सिंह व सुखविंदर सिंह को गिरफ्तार कर चुकी है। मजीठा रोड निवासी विशाल की लोकेशन बटाला में बताई जा रही है। उसकी तलाशी में एक टीम वहां दबिश दे रही है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!