पंकज शर्मा, अमृतसर: ड्रग तस्करी मामले में मिली जमानत के बाद श्री हरिमंदिर साहिब माथा टेकने के लिए पहुंचे अकाली दल के पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने खुलकर शक्ति प्रदर्शन किया। ब्यास से अमृतसर तक अलग अलग स्थानों पर अकाली दल के वर्करों ने मजीठिया को सिरोपे भेंट करके व फूल मालाएं अर्पित करके स्वागत किया। अमृतसर गोल्डन गेट पर बिक्रम के पहुंचने का समय साढे़ 11 बजे था परंतु वह अपने काफिले के साथ करीब 12:48 मिनट पर वहां पहुंचे। अकाली दल के वर्कर बढ़ी संख्या में गोल्डन गेट के पास पहुंचे और वहां अपने वाहन सड़कों पर लगा दिए। इसके चलते गोल्डन गेट के पास ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा गई। मजीठिया गोल्डन गेट के पास पहुंचे तो वर्करों ने आतिशबाजी शुरू कर दी। इससे वहां धुआं ही धंआं फैल गया। कुछ लोगों को सांस लेने में तकलीफ होने लगी। बिक्रम के स्वागत के लिए भीड़ व वर्करों की संख्या बढ़ाने के लिए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के कर्मचारी, सेवादार और सचिव तक के अधिकारी गोल्डन गेट तक ले जाए गए थे।

चुनाव के कारण शहर में जिला चुनाव अधिकारी कम-डीसी की ओर से धारा 144 लगाई गई है। इसके बावजूद बिक्रम सिंह मजीठिया के स्वागत में जुटी वर्करों की भीड़ ने इसका खुलेआम उल्लंघन किया। मजीठिया के स्वागत में इकट्ठा हुई वर्करों की भीड़ ने कोविड के नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई। कई वर्करों ने मास्क नहीं पहने थे और न ही शारीरिक दूरी थी। यहां तक कि चुनाव के मद्देनजर पंजाब के चुनाव अधिकारी की ओर से तय किए नियमों का भी खुलेआम उल्लंघन किया गया। गोल्डन गेट के पास मजीठिया का काफिला पहुंचने के कारण पैदा हुई यातायात समस्या को सही करने के लिए वहां तैनात पुलिस कर्मचारियों और ट्रैफिक पुलिस ने भी कोई सही जिम्मेदारी नहीं निभाई।

श्री हरिमंदिर साहिब पहुंचने पर भी गोल्डन प्लाजा में मीडिया के साथ बातचीत में कोविड गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाई गईं। इस दौरान अकाली दल के नेता तलबीर सिंह गिल, गुरप्रीत सिंह रंधावा, बीबी वजिदर कौर, बीबी सर्बजीत कौर सोहल, जिला अध्यक्ष गुरप्रताप सिह टिक्का, भाई राम सिंह, हरमीत सिंह, अवतार सिंह ट्रक्कांवाला, डा. दलबर सिंह, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्यों और पदाधिकारियों ने भी मजीठिया का स्वागत किया। तीन सर्विलांस टीमें की गाडि़यों ने की रिकार्डिग

इस दौरान चाहे जिला चुनाव अधिकारी की ओर से तीन सर्विलांस टीमें और उनकी गाडि़यां तैनात की हुई थीं जो स्वागत के दौरान चल रही प्रत्येक गतिविधि की सीसीटीवी कैमरों में रिकार्डिग कर रही थी। बावजूद इसके अकाली दल के वर्कर नियमों का पालन करने के लिए गंभीर दिखाई नहीं दिए।

Edited By: Jagran