जासं, अमृतसर : विजिलेंस की तरफ से होशियारपुर के माहिलपुर में रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार किए गए नायब तहसीलदार का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इसके रोष स्वरूप हड़ताल पर गए सब रजिस्ट्रारों को पंजाब सिविल सर्विसिस आफिसर्स एसोसिएशन, डीसी दफ्तर कर्मचारी यूनियन, पटवार यूनियन और कानूनगों यूनियन ने भी समर्थन दे रखा है। इस कारण तहसीलों, डीसी दफ्तर, पटवारखानों में कामकाज बंद हो गया है और लोग परेशान हो रहे हैं। हड़ताल के कारण तहसील दफ्तर में 300 के करीब रजिस्ट्रियां नहीं हुईं। वहीं डीसी दफ्तर में सात दिन में 750 के करीब एससी-बीसी सर्टिफिकेट, 476 के करीब इन्कम सर्टिफिकेट, 260 के करीब मैरिज सर्टिफिकेट का काम अटक गया है। हालांकि लोगों की समस्याओं को देखते हुए एसडीएम-वन टी बैनिथ और एसडीएम टू राजेश शर्मा एफिडेविट का काम साथ-साथ निपटा रहे हैं। इसकी कोई भी पेंडेंसी नहीं है। अगर हड़ताल बढ़ती है तो एफिडेविट का काम लगातार जारी रहेगा। दूसरी तरफ यह हड़ताल अभी और बढ़ने की संभावना है, क्योंकि मंगलवार को पंजाब रेवेन्यू आफिसर्स एसोसिएशन की तरफ से चंडीगढ़ में विजिलेंस ब्यूरों दफ्तर के बाहर किए गए प्रदर्शन के बावजूद उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई है। एक सप्ताह से परेशान हो रहे लोग नई दिल्ली से आया परिवार, हड़ताल से अटकी है रजिस्ट्री

बटाला रोड निवासी कुलविदर सिंह का कहना है कि वह 24 नवंबर से तहसील दफ्तर में चक्कर काट रहे हैं। उनके रिश्तेदार नई दिल्ली से आए हैं, जिन्होंने जमीन की रजिस्ट्री करवानी है, लेकिन हड़ताल के कारण यह काम पेंडिग है। उन्होंने कहा कि पटवार खाने में भी पटवारी नहीं बैठ रहे है। वह रजिस्ट्री संबंधी कोई कागजात लेने के लिए दफ्तर में गए थे, लेकिन वह भी उन्हें नहीं मिला। अब हड़ताल कब खत्म होगी, इसका भी कुछ नहीं पता है। सर्बजीत सिंह का अटका एससी सर्टिफिकेट और करैक्टर

हड़ताल के कारण सर्बजीत सिंह निवासी मोहकमपुरा का एससी और करेक्टर सर्टिफिकेट अटका हुआ है। कई दिनों से वह चक्कर काट रहे हैं, लेकिन स्टाफ न होने से सर्टिफिकेट नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने सरकारी नौकरी के लिए फार्म भरा था और उसी में ही यह सर्टिफिकेट लगाने की जरुरत है। उन्होंने पंजाब सरकार से मांग की है कि यूनियनों की मांग को मानकर हड़ताल को खत्म किया जाए, ताकि लोगों को परेशान न होना पड़े।

डीएसपी और आइओ के खिलाफ दर्ज करवाएंगे केस : धम्म

पंजाब रेवेन्यू आफिसर्स एसोसिएशन ने मंगलवार को गुरुद्वारा श्री अंगीठा साहिब फेज आठ मोहाली में विजिलेंस ब्यूरों के हेडक्वार्टर दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। इसमें 1500 अधिकारी व कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। यूनियन ने फैसला किया है कि सिविल और पुलिस विजिलेंस के उच्चाधिकारियों की संपत्ति का ब्योरा भी इकट्ठा किया जाए। अधिकारियों की तरफ से कोई भी रिकार्ड पेश न करने का फैसला भी किया गया। पंजाब रेवेन्यू आफिसर्स एसोसिएशन के प्रधान गुरदेव सिंह धम्म ने कहा कि पंजाब के रेवेन्यू अधिकारी एक दिसंबर तक सामूहिक छुट्टी पर रहेंगे। डीएसपी निरंजन सिंह और आइओ चमकौर सिंह द्वारा बनाई गई जायदाद की जांच करके उनके खिलाफ पर्चा दर्ज करके बर्खास्त नहीं किया गया तो एसोसिएशन बुधवार को अगले संघर्ष की रणनीति तैयार करेगी।

Edited By: Jagran