जागरण संवाददाता, कोलकाता। West Bengal Governor Jagdeep Dhankhar. बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने शुक्रवार को कहा कि कुछ लोग अपनी जुबान पर लगाम नहीं लगा रहे हैं। बावजूद इसके वह राज्य में लोगों की सेवा करने से पीछे नहीं हटेंगे। दरअसल, गुरुवार को राज्य सचिवालय नवान्न में मीडियाकर्मियों से मुखातिब होने के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्यपाल पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए कहा था कि संवैधानिक पदों पर आसीन लोग भाजपा के मुखपत्र बन गए हैं। साथ ही, बिना नाम लिए उन्होंने राज्यपाल जगदीप धनखड़ पर समानांतर सरकार चलाने का भी आरोप लगाया था। हालांकि, मुख्यमंत्री के आरोप पर धनखड़ ने टिप्पणी करने से इन्कार करते हुए कहा कि क्रिकेट के खेल में हर गेंद को खेलने की जरूरत नहीं होती है।

धनखड़ ने कहा कि कुछ लोग अपनी जुबान का बहुत ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं। वह जुबान पर लगाम नहीं लगा रहे। लेकिन, मेरा मानना है कि क्रिकेट के खेल में हर गेंद को खेलना जरूरी नहीं है। खैर, कोई कुछ भी कहे मैं लोगों की सेवा जारी रखूंगा। उन्होंने कहा कि उनके बयानों को पूरी तरह समझे बिना किसी को टिप्पणी नहीं करनी चाहिए।

गौरतलब है कि बुलबुल चक्रवात के पीड़ितों के लिए राहत सामग्री वितरण को लेकर गुरुवार को धनखड़ और राज्य सरकार के बीच नए सिरे से आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया था। धनखड़ ने 300 किलोमीटर की यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर के उनके अनुरोध का जवाब नहीं देने के लिए राज्य सरकार की आलोचना की थी। मुर्शिदाबाद जिले में फरक्का की यात्रा को राज्यपाल को एक हेलीकॉप्टर मुहैया कराने की अनुमति देने का अनुरोध गुरुवार को ठुकरा दिया गया था। राज्य सरकार ने एक सप्ताह में दूसरी बार इस तरह के अनुरोध को अस्वीकार किया है।

वहीं, धनखड़ शुक्रवार सुबह एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने को फरक्का गए। उधर, राज भवन सूत्रों की मानें तो हेलीकॉप्टर के लिए अनुरोध काफी समय पहले ही किया गया था, लेकिन प्रशासन की ओर से कोई जवाब नहीं मिला। हालांकि, तृणमूल कांग्रेस ने राज्यपाल की यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर की जरूरत पर सवाल उठाते हुए इसे 'बेतुका' और 'जनता के पैसे का दुरुपयोग' करार दिया।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस