लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में लोगों के सामने रोजगार का संकट पैदा हो गया है। भाजपा सरकार की उदासीनता और अदूरदर्शिता से प्रदेशवासियों के सामने बहुत बड़ी समस्या पैदा हो रही है। पूरे प्रदेश को ठप कर सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जो ढोल पीटा वह भी असफल हो गया।

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार न तो व्यापारियों की कोई मदद कर रही और न ही दुकानें खोलने का कोई दिशा निर्देश स्पष्ट कर रही है। सरकार कुछ कहती है, अधिकारी कुछ और डंडा चलाते हैं। बड़ी संख्या में छोटे व्यापारी प्रताड़ित किए जा रहे हैं। सरकारी अधिकारी और कर्मचारी व्यापारियों के ऊपर जबरन जुर्माना ठोंक रहे हैं।

अखिलेश यादव ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि दो माह लॉकडाउन के चलते पहले से ही भुखमरी के कगार पर पहुंच गए व्यापारी अब इस सरकारी आतंक और जुर्माने को कैसे झेल पाएंगे? डंडे के बल पर सरकारी कर्मचरियों और अधिकारियों ने व्यापारियों में डर और आतंक कायम कर रखा है। जहां तक व्यापार जगत की बात है लॉकडाउन अवधि में बाजार बंदी से सर्वाधिक प्रभावित छोटे व्यापारी हुए हैं। रोज कमाकर खाने वालों के सबसे खराब हाल हैं। इन्हेंं कोई भी राहत नहीं दी गई। लाखों की संख्या में छोटे व्यापारी और दुकानदार भुखमरी की कगार पर हैं। भाजपा सरकार कोरोना संक्रमण की आड़ में कब तक हाथ पर हाथ धरे बैठे रहेगी ?

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस