जागरण टीम, कटिहार: बिहार में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल ने बड़ा बयान दिया है। लिकर बम फोड़ते हुए उन्होंने सीएम नीतीश कुमार और उत्पाद विभाग पर निशाना साधा है। शराबबंदी को आड़े हाथ लेते हुए जायसवाल ने कहा कि नीतीश कुमार और उनकी उत्पाद विभाग की टीम राज्य में शराब की खेप ला रही है। शराब की बोतल से चूड़ी उद्योग लगाने की आड़ में शराब तस्करों को छूट दी जा रही है।

पूर्व डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद के आवास पर संवाददाताओं से बात करते हुए संजय जायसवाल ने कहा कि नीतीश और उनके उत्पाद विभाग के इशारे पर राज्य में शराब की खेप पहुंच रही है। शराब तस्करी के 10 वाहनों में नौ को पास कराया जाता है। शराबबंदी के नाम पर शराब तस्करी के मामले में एक वाहन की ही जब्ती की जा रही है। डा. जायसवाल ने कहा कि बिहार देश का पहला राज्य है, जहां जिस उत्पाद पर बैन लगा है, उसकी बोतल से ही चूड़ी उद्योग लगाने और जीविका दीदीयों को रोजगार देने की बात कही जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में विधि व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो गई है।

यह भी पढ़ें: ''बिहार में फिर से शुरू होगी शराब की बिक्री...'' अब इस चर्चा पर लगा लें पूर्ण विराम

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में मुख्यमंत्री की तस्वीर तक नहीं लगी थी। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे नीतीश कुमार पहले अपने बूते 50 विधानसभा की सीट जीतकर दिखाए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि गृह मंत्री का सीमांचल दौरा निर्धारित है। इस दौरान वे कार्यकर्ताओं व बीएसएफ व एसएसबी के जवानों से भी मिलेंगे।

बिहार-बंगाल से बनाया जाएगा केंद्रशासित प्रदेश?

सीमांचल व बंगाल के कुछ हिस्सों को मिलाकर केंद्रशासित प्रदेश बनाने की बात पूरी तरह बकवास है। सीमांचल बिहार का हिस्सा है। राज्य के विकास के लिए केंद्र सरकार द्वारा सवा लाख करोड़ की विभिन्न योजना चलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि गोरखपुर सिलीगुड़ी एक्सप्रेस वे से सीमांचल में विकास की गति और तेज होगी। इस मौके पर विधान पार्षद अशोक अग्रवाल, विधायक निशा सिंह, कविता पासवान, भाजपा प्रदेश महामंत्री सुशील कुमार, जिलाध्यक्ष लक्खी प्रसाद महतो, बबन झा, बबलू गुप्ता आदि मौजूद थे।

Edited By: Shivam Bajpai

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट