जयपुर, जागरण संवाददाता। Sachin Pilot. राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने राज्य के इतिहास में प्रदेश कांग्रेस कमेटी का सबसे लंबे समय तक अध्यक्ष बने रहने का रिकॉर्ड कायम किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में मंगलवार को छह साल का कार्यकाल पूरा करेंगे। 70 साल के इतिहास में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद पर लंबे समय तक रहने वाले पायलट ही हैं। इससे पहले तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष परसराम मदेरणा साढ़े पांच साल का कार्यकाल पूरा कर रिकॉर्ड बनाया था, लेकिन पायलट ने मदेरणा का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

साल, 2013 के विधानसभा चुनाव में में कांग्रेस की करारी हार के बाद केंद्रीय नेतृत्व ने सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर 21 जनवरी, 2014 को राजस्थान में भेजा था। उस समय 200 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के मात्र 20 विधायक निर्वाचित हुए थे। उसके बाद पायलट के नेतृत्व में 2014 के लोकसभा चुनाव हुए, जिसमें कांग्रेस सभी सीटें हार गईं। उसके बाद कोटा और धौलपुर उपचुनाव को छोड़कर पायलट के नेतृत्व में हर उपचुनाव कांग्रेस ने जीत दर्ज की। अजमेर, अलवर लोकसभा और मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस ने भाजपा से तीनों ही सीट छिन ली थी।

विधानसभा चुनाव 2018 के बाद पार्टी की प्रदेश में सरकार बन गई। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार और संगठन के स्तर पर जोर लगाने के बाद भी 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर में कांग्रेस की फिर पराजय हुई। निकायों में सरकार और संगठन की मदद से फिर कांग्रेस का जीत मिली है, जिससे कांग्रेस के भीतर फिर से उत्साह है। पहली बार ऐसा है, जब कांग्रेस ने वसुंधरा सरकार से सीधे टक्कर लेने के लिए कांग्रेस ने प्रदेश नेतृत्व में किसी प्रकार का बदलाव नहीं किया। 

सचिन पायलट ने अशोक गहलोत पर फिर साधा निशाना
राजस्थान के उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने शुक्रवार को एक बार फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर बिना नाम लिए निशाना साधा। पायलट ने कहा कि राजस्थान की सात करोड़ जनता ने किसी एक व्यक्ति को नहीं चुना, बल्कि कांग्रेस पार्टी को चुना है। पार्टी ने मंत्री और नेता बनाए हैं। राज्य के सात करोड़ लोग चाहते हैं कि अच्छी सरकार मिले। उन्होंने कहा कि सरकार चलाना और उसकी परर्फोमेंस हम सबकी जिम्मेदारी है। किसी एक व्यक्ति की जिम्मेदारी नहीं है।

उन्होंने कहा कि अगर हमारी टीम में से किसी एक व्यक्ति को परेशानी होती है तो उसका समय से निराकरण करना जरूरी है क्योंकि जवाबदेही हमारी कांग्रेस सरकार की है। गत शुक्रवार को जयपुर स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार चलाने के लिए एक व्यक्ति से काम नहीं चलेगा। सबको साथ लेकर चलना होगा। पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह का अधिकारियों के साथ विवाद और उनके साथ गुरुवार को हुई मुलाकात पर उन्होंने कहा कि उनकी समस्या का समाधान होना चाहिए।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस