लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की लखनऊ में गैरमौजूदगी के कारण पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव ने देश के 71वें गणतंत्र दिवस पर पार्टी कार्यालय में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर उन्होंने वहां मौजूद लोगों ने आज से अन्याय के खिलाफ लड़ने का संकल्प दिलाया।

मुलायम सिंह यादव ने पार्टी कार्यालय में मौजूद कार्यकर्ताओं से कहा कि 26 जनवरी और 15 अगस्त का हमारे लिए विशेष महत्व है। यह महान पर्व हैं और ऐसा नहीं है कि इस दिन हम सभी सिर्फ झंडारोहण करके अपनी जिम्मेदारी पूरी कर लें। आप और हम यह दिन देख रहे हैं, कयोंकि इस दिन के लिए हमारे बुजुर्गो ने कुर्बानी दी थी। पूरा देश अंग्रेजों के खिलाफ एक साथ खड़ा हुआ था। उस समय तो कहा जाता था कि अंग्रेज कभी इस देश से नहीं हटेगा, लेकिन हमारे बुजुर्गों ने जान दे कर हमें आजादी दिलवाई।

उन्होंने कहा कि अब तो इस आजादी के बाद हमारी सभी की जिम्मेदारी और बढ़ गयी है। वास्तव में आज का दिन संकल्प का दिन है। तमाम कार्यकर्ताओं को संकल्प करना चाहिए कि हम अन्याय के खिलाफ लड़ेंगे, इसके साथ ही गरीब जनता को उसका हक दिलाने के लिए हर हद तक जाएंगे। मुलायम ने कहा कि संकल्प लिए बिना यहां से कोई कार्यकर्ता नहीं जाएगा। सियासत करने वालों के लिए बिना संकल्पित जीवन तमाम चीजें बेकार हैं।

मुलायम सिंह यादव ने इस बीच सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के तमाम जिम्मेदार कार्यकर्ताओं की प्रशंसा की और कहा कि सूबे में जाकर गरीब, किसानों, नौजवानों, महिलाओं के खिलाफ जो अन्याय हो रहा है उनके पक्ष में आवाज बुलंद की जाए।

पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने कहा कि हर किसी को उम्मीद थी कि आजादी मिलने के बाद हमारी तमाम समस्याएं खत्म हो जाएंगी। देश के लोगों को रोजगार मिलेगा। किसान भी खुशहाल हो जाएगा और तो और नौजवान दर-दर नहीं भटकेगा। सपा के संरक्षक ने कहा कि पूरी दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर चल सकेंगे। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस