बक्‍सर/सासाराम [कुमार रजत/ ब्रजेश पाठक]। पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार को बिहार दौरे पर थे। उन्‍होंने बक्‍सर और सासाराम में चुनावी सभाओं को संबोधित किया। इन दोनों लोकसभा क्षेत्रों में अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होना है। पीएम माेदी ने कांग्रेस और राजद पर तीखा हमला बोला। उन्‍होंने लालू परिवार की अरबों की संपत्ति पर सवाल खड़े करते हुए पूछा कि राजनीति में कितनी तनख्वाह हो गई है कि कुछ सालों में ही अरबपति हो गए हैं।
बक्‍सर की सभा में बोले मोदी
बक्सर में मोदी ने कहा कि राजद और कांग्रेस की सोच में ही खोट है। ये लोग समझते हैं कि जातियां इनकी गुलाम हैं। इन्होंने गरीबों के नाम पर वोट बटोरे, बड़े-बड़े पद हासिल किए और जब काम की बारी आई तो गरीबों को ही भूल गए। ये लोग गरीबी से निकले थे, मगर हजारों-करोड़ों की संपत्ति खड़ी कर ली। बंगले बनवाएं, लाखों की गाडिय़ां लीं। 

सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानी ही मेरा परिवार
प्रधानमंत्री ने कहा कि आपका ये सेवक गुजरात में सबसे सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहा, अभी पांच साल से देश का प्रधानमंत्री है, लेकिन एक पल के लिए भी मैंने अपने लिए कुछ नहीं किया और न ही रिश्तेदारों के साथ समय बिताया। मेरी लिए तो आप सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानी ही मेरा परिवार है। इन्हीं के लिए जीता हूं, इन्हीं के लिए जीऊंगा। 

आपका उत्‍साह व जोश मेरे सर-आंखों पर
मोदी-मोदी की गूंज के बीच पीएम ने कहा कि आपका उत्साह और जोश मेरे सिर आंखों पर। यही मेरी ताकत है। विपक्षी जीत नहीं सकते, इसलिए गाली देकर भड़ास निकालते हैं। वे चाहते हैं कि केंद्र में कमजोर खिचड़ी सरकार बने, ताकि ये सब मिलकर ब्लैकमेल कर सकें, मगर ये नहीं जानते कि 10 दिन बाद 23 मई के नतीजे तय हैं। उन्होंने जनता से पूछा - क्या नतीजे आने वाले हैं? फिर एक बार..., भीड़ ने जवाब दिया - मोदी सरकार। 

ये नया हिंदुस्तान है, आतंकियों को घर में घुसकर मारता है 
पीएम मोदी ने विपक्षी दलों को महामिलावटी करार देते हुए कहा कि 2014 से पहले आतंक की विनाशलीला जारी थी। एनडीए ने एजेंसी को खुली छूट दी। देश के भीतर भी और सीमा के उस पार भी सफाई करने की। ये नया हिंदुस्तान है, ये आतंकियों को घर में घुसकर मारता है। 

सवर्णों को आरक्षण दिया अब किसानों-मजदूरों को पेंशन  
पीएम ने कहा कि आरक्षण से बिना छेड़छाड़ किए हमने गरीब सवर्णों को 10 फीसद आरक्षण दिया। अब सिर्फ 10 दिन बचे हैं। 23 तारीख को एक बार फिर एनडीए की सरकार बनेगी। फिर मोदी सरकारी बनी तो किसानों और मजदूरों के लिए हर माह पेंशन की योजना बनाई जाएगी। इसी तरह कारोबारियों के लिए राष्ट्रीय व्यापारी आयोग बनेगा। दुकानदारों को बिना गारंटी के 50 लाख तक का लोन मिलेगा। 

बक्सर के विकास भी रखा ख्याल 
उन्‍होंने कहा कि अभी कुछ दिन पहले ही बक्सर में पावर प्लांट का शिलान्यास हुआ है। यहां बन रहे मेगा फूड पार्क से रोजगार के नए अवसर खुलेंगे। किसानों को उपज का सही मूल्य मिलेगा। इस क्षेत्र में भगवान राम और माता सीता के चरण पड़े, इसलिए इसे रामायण सर्किट से जोड़ा गया है। उन्‍होंने भाषण के अंतिम पलों में कहा कि आपका एक-एक वोट एनडीए को मिलना चाहिए। कमल के फूल पर या तीर के निशान पर या बंगले पर जो भी वोट पड़ेगा वो सीधा-सीधा मोदी के खाते में जाएगा। मंच पर लोजपा के रामिवलास पासवान, डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी, बक्सर से एनडीए उम्मीदवार अश्विनी कुमार चौबे और आरा के एनडीए उम्मीदवार आरके सिंह भी उपस्थित थे। जाते-जाते उन्‍होंने बक्‍सर से केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे को जिताने की अपील की।

सासाराम में कांग्रेस को बनाया निशाना 
पीएम नरेंद्र मोदी ने सासाराम में आयोजित चुनावी सभा में बिहार और बिहारियों से सीधा कनेक्शन जोड़ते हुए कहा कि सासाराम और पूरे बिहार ने देश को हमेशा नेतृत्व दिया है, लेकिन कुछ लोगों ने बिहार की अस्मिता और गौरव को काफी नुकसान पहुंचाया है। ऐसे लोग ही उन्हें भी गालियां दे रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी सासाराम में आवास बोर्ड कॉलोनी परिसर मेंं आयोजित चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मंच से एनडीए उम्मीदवारों सासाराम से छेदी पासवान, काराकाट से महाबली सिंह व डेहरी विधानसभा से सत्यनारायण यादव को विजयी बनाने की अपील की। पूरे भाषण के दौरान मोदी कांग्रेस पार्टी पर हमलावर रहे। कहा कि कांग्रेस का अहंकार ही है कि उसने बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर का नाम भी इतिहास से मिटाने की कोशिश की। जगजीवन राम को प्रताडि़त कर कांग्रेस छोडऩे को मजबूर कर दिया।

सैम पित्रोदा के जो हुआ सो हुआ पर तंज
उन्होंने सैम पित्रोदा द्वारा सिखों के नरसंहार पर जो हुआ सो हुआ शब्द पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस की सोच यही है। इसके शासनकाल में घोटाला हुआ तो हुआ, भ्रष्टाचार हुआ तो हुआ, किसानों का नुकसान हुआ तो हुआ। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में एनडीए सरकार ने विकास के जो कार्य किए, वह पूरे देश के लिए नजीर हैउन्‍होंने कहा कि हम काम के आधार पर वोट मांगते हैं। बिहार व देश में एनडीए की जीत तय है। देश में एक बार फिर मोदी सरकार बनेगी। उन्‍होंने जनता से ही सवाल दागते हुए कहा कि एक बार फिर..., बाकी भीड़ ने कहा- मोदी सरकार। 

विपक्ष में गाली देने की होड़ है
पीएम मोदी ने कहा कि छह चरणों के मतदान के बाद विरोधी पस्त हैं और उनका गुस्सा सातवें आसमान पर है। इसीलिए उनमें गाली देने की होड़ मची है। ये लोग मजबूर, कमजोर और खिचड़ी सरकार बनाने के चक्कर में थे, जिससे उनका फायदा होता। जनता को लूटने का लाइसेंस चाहते थे। आपके इस चौकीदार ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया है। अब तो बस दस दिनों के बाद नतीजे भी आ जाएंगे। उन्‍होंने कहा कि यह चुनाव तय करेगा कि आने वाले वर्षों में भारत कितना विकास करेगा। यह चुनाव 21वीं सदी के बच्‍चों का भविष्‍य तय करेगा। बताइए, ये महामिलावट वाले कभी भारत के विकास की बात और चर्चा करते हैं। क्‍या भारत के विकास एजेंडा बताते हैं। ये सिर्फ अपना हित करना जानते हैं, जनता का नहीं। ये जानते हैं कि कुछ जातियां इनकी गुलाम हैं। ये वे लोग हैं, जिन्‍होंने सालों तक पदों का लाभ लिया, लेकिन गरीबों के लिए कुछ नहीं किया।

बिहटा से हेलीकॉप्‍टर से पहुंचे सभा स्‍थल
इसके पहले पटना के बिहटा में वायुसेना के एयरपोर्ट पर लैंड करने के बाद पीएम मोदी दोनों चुनावी सभाओं में हेलीकाॅप्‍टर से पहुंचे। उन्‍होंने बक्सर से केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे और सासाराम से छेदी पासवान समेत अगल-बगल के लोकसभा क्षेत्रों से एनडीए उम्मीदवारों को जिताने की अपील की।

बिहार में इतनी चुनावी सभाओं को कर चुके हैं संबोधित

लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद पीएम मोदी ने पहली बार दो अप्रैल को जमुई में लोजपा के उम्मीदवार चिराग पासवान और गया में जदयू उम्मीदवार विजय मांझी के  लिए चुनावी सभा की थी और लोगों से वोट देने की अपील की थी। फिर 11 अप्रैल को वे भागलपुर आए थे और 20 अप्रैल को अररिया में चुनावी सभा को संबोधित किया था।

उसके बाद 25 अप्रैल को उन्होंने दरभंगा में बीजेपी उम्मीदवार गोपालजी ठाकुर और 30 अप्रैल को मुजफ्फरपुर में अजय निषाद के लिए चुनावी सभा को संबोधित किया था। फिर 4 मई  को प्रधानमंत्री मोदी ने वाल्मीकिनगर में सभा की थी। बिहार में लोकसभा चुनाव के लिए ये पीएम मोदी की सातवीं सभा है।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में मोदी सरकार के चार मंत्रियों - रविशंकर प्रसाद, अश्विनी चौबे, रामकृपाल यादव और आरके सिंह के भाग्‍य का फैसला होना है। इस कारण भाजपा कोई कसर छोड़ना नहीं चाहती है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस