नई दिल्ली, एएनआइ। ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने बुधवार को कहा है कि उनकी पार्टी बीजू जनता दल (बीजद) 'एक देश, एक चुनाव' का समर्थन करेगी।

एक देश एक चुनाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई सभी विपक्षी दलों की बैठक हुई। यह बैठक एक राष्ट्र, एक चुनाव के मुद्दे को आगे बढ़ाने और इसमें विपक्ष समेत सभी पक्षों को शामिल करने के लिए बुलाई थी। इस बैठक से कांग्रेस समेत कईं नेताओं ने दूरी बना ली है। 

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएस कृष्णमूर्ति ने कहा कि एक राष्ट्र, एक चुनाव का विचार तो बहुत बढ़िया है, लेकिन संविधान में संशोधन कर विधायिकाओं का निश्चित कार्यकाल किए बिना यह संभव नहीं है। मुख्य चुनाव आयुक्त रहते हुए 2004 का आम चुनाव कराने वाले कृष्णमूर्ति ने कहा कि अर्ध सैनिक बलों की अधिक संख्या में तैनाती समेत कई तरह के प्रशासनिक इंतजाम करने पड़ेंगे, लेकिन ये संभव हैं।

उनके मुताबिक, एक साथ चुनाव कराने के कई फायदे हैं, लेकिन इसे लागू करने की राह में अविश्वास प्रस्ताव और अन्य संबंधित मुद्दों से जुड़े संवैधानिक प्रावधान बाधा हैं। इसके लिए संविधान में संशोधन कर यह प्रावधान करना पड़ेगा कि अविश्वास प्रस्ताव में अगर कोई नया नेता नहीं चुना जाता है तो पुरानी सरकार ही बनी रहेगी। जब तक सदन का कार्यकाल निश्चित नहीं होगा, यह संभव नहीं है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस