नई दिल्ली, एएनआइ। Delhi Violence case: जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) हिंसा मामले में क्राइम ब्रांच की एसआइटी ने गुरुवार को अक्षत, रोहित और चुनचुन को जेएनयू हिंसा मामले के संबंध में अपने बयान दर्ज करने के लिए बुलाया है। अक्षत और रोहित को पहले भी दो बार तलब किया जा चुका है, लेकिन वे SIT के सामने पेश नहीं हुए हैं।

विश्वविद्यालय के एक और छात्र से एसआइटी ने की पूछताछ

इससे एसआइटी ने बुधवार को जेएनयू में ही वामपंथी छात्र संगठन आइसा के दो विद्यार्थियों चुनचुन कुमार व डोलन शर्मा को पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन चुनचुन के न जाने पर सिर्फ डोलन से ही कई घंटे तक पूछताछ की। उससे जेएनयू हिंसा मामले की जांच के लिए प्रशासनिक भवन में अस्थायी रूप से बनाए गए कार्यालय में ही बुलाकर पूछताछ की गई। ये उन छात्रों में शामिल हैं जिनकी क्राइम ब्रांच ने 10 जनवरी को हिंसा के संदिग्ध के तौर पर तस्वीरें जारी की थीं। जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आईशी घोष समेत सात संदिग्धों से अब तक पहले दौर की पूछताछ की जा चुकी है। अब दो विद्यार्थी शेष रह गए हैं, जिनसे पूछताछ की जानी है।

इसके अलावा एसआइटी ने बताया कि यूनाइट अगेंस्ट लेफ्ट नाम के वाट्सएप ग्रुप से जुड़े 37 विद्यार्थियों की भी पहचान कर उन्हें अगले हफ्ते पूछताछ में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा गया है।

उधर 4 जनवरी को जेएनयू के प्रशासनिक भवन स्थित सर्वर रूम में घुसकर तोड़फोड़ करने के मामले में भी क्राइम ब्रांच की एक अन्य टीम के साथ एफएसएल की टीम ने बुधवार को जेएनयू पहुंच कर सर्वर रूप की दिनभर जांच की और वहां हुए नुकसान का आंकलन किया। इस मामले में भी क्राइम ब्रांच ने कई विद्यार्थियों की पहचान की है। उन्हें भी पूछताछ के लिए पहले नोटिस भेजा जाएगा।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस