नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। शाहीन बाग में सीएए और एनआरसी के विरोध में चल रहे धरना प्रदर्शन के दौरान बंद रास्ते को खुलवाने के लिए लगातार तीसरे दिन वार्ताकार शाहीन बाग पहुंचे। शुक्रवार को देर शाम करीब साढ़े छह बजे दोनों वार्ताकार एडवोकेट संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन शाहीन बाग पहुंचे और प्रदर्शनकारियों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि वह केवल महिलाओं से बात करना चाहते हैं।

उन्होंने धरनास्थल पर बैठे सभी पुरुषों को वहां से हटकर खड़े होने के लिए कह दिया। वार्ताकारों ने महिलाओं से रास्ता खोलने के लिए कहा तो महिलाओं ने अपनी सुरक्षा की बात उनके सामने रखी। महिलाओं ने कहा कि अगर वे एक तरफ की रोड खोल दें तो किया पुलिस उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी लेगी। हालांकि, कुछ लोग रास्ता खोलने की बात पर ही नाखुशी जताते दिखाई दिए।

शुक्रवार देर शाम शाहीन बाग पहुंचे वार्ताकारों ने धरनास्थल पर प्रदर्शनकारियों से बातचीत शुरू की। इस दौरान साधना रामचंद्रन ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि वह पहले सिर्फ प्रदर्शन कर रही महिलाओं से बात करना चाहती हैं। इसके लिए धरनास्थल पर मौजूद सभी पुरुष थोड़ी दूरी पर हट जाएं जिससे वह महिलाओं से बात कर सकें। उन्होंने महिलाओं से पूछा कि क्या वह किसी को परेशान कर अपना धरना चालू रखना चाहती हैं जिसके जवाब में महिला प्रदर्शनकारियों ने कहा कि नहीं।

उन्होंने पूछा कि आप सिर्फ एक रोड पर बैठे हैं, ऐसे में क्या दूसरी तरफ की सड़क को यातायात के लिए चालू कर दिया जाए। इस पर प्रदर्शनकारियों ने कहा कि क्या प्रशासन उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी लेगा। इस पर वार्ताकारों ने तुरंत मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों को बुलाकर सुरक्षा का वायदा दिलाया। लेकिन इसके बाद भी प्रदर्शनकारियों का एक गुट सड़क खोलने को लेकर राजी नहीं हुआ।

कई गुटों में बटे हैं प्रदर्शनकारी

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर सड़क खोलने के लिए प्रदर्शनकारियों से वार्ता करने पहुंचे वार्ताकारों को प्रदर्शनकारियों के कई गुटों से बात करनी पड़ रही है। कुछ प्रदर्शनकारी इस बात पर राजी हैं कि धरनास्थल को छोड़कर सड़क चालू कर दी जाए। जबकि दूसरा गुट धरनास्थल पर किसी भी बदलाव के लिए राजी नहीं है। जबकि एक गुट पुलिस सुरक्षा के साथ रास्ता खोलने पर राजी है। कई गुटों के कारण वार्ताकारों को बातचीत करने में परेशानी हो रही है।

सड़क खुलने की अफवाह से मची हलचल

शुक्रवार सुबह कालिंदी कुंज जाने वाले महामाया फ्लाईओवर को खोलने की अफवाह फैली जिससे शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनका रियों में हलचल मच गई। हालांकि बाद में स्पष्ट हुआ कि यह बलदेव वाहन खराब होने के कारण कुछ देर के लिए महामाया फ्लाईओवर को खोला गया था इसके बाद उसे दोबारा बंद कर दिया गया है। बता दें कि शाहीन बाग में प्रदर्शन की वजह से लोगों को भारी परेशानी हो रही है।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।