नई दिल्ली, एएनआइ। दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण के मुद्दे पर दिल्ली में 15 नवंबर को होने वाली अहम बैठक में शामिल नहीं हो पाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने समाचार एजेंसी एएनआइ से बातचीत में इसके पीछे की वजह बताई है। 

उन्होंने कहा कि मैंने कॉमेंट्री के लिए जनवरी में कॉन्ट्रैक्ट साइन किया था, जबकि मैंने राजनीति में अप्रैल में दस्तक दी। कॉन्ट्रैक्ट के नियमोें के तहत मैं कॉमेट्री कर रहा हूं। प्रदूषण को लेकर होने वाली बैठक को लेकर 11 नवंबर को मुझे एक मेल मिला था, जिसमें मुझसे मीटिंग में शामिल होने के लिए कहा गया था। मैंने इस बाबत बैठक में शामिल नहीं हो पाने को लेकर विधिवत सूचना दे दी थी। 

गौतम गंभीर ने इशारों-इशारों में आम आदमी पार्टी के नेताओं को जवाब देते हुए यह भी कहा- 'अगर मेरे जलेबी खाने से दिल्ली का प्रदूषण बढ़ा है तो मैं हमेशा के लिए जलेबी छोड़ सकता हूं। इस मुद्दे पर सिर्फ 10 मिनट में मुझे ट्रोल करना शुरू कर दिया गया। अगर इतनी मेहनत दिल्ली का प्रदूषण कम करने में हो होती तो हम सांस ले पाते।' 

बता दें कि बैठक के रोज यानी 15 नवंबर को गौतम गंभीर के इंदौर में जलेबी खाने को लेकर दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी ने सवाल उठाए थे। इतना ही नहीं, गौतम गंभीर के खिलाफ शनिवार शाम को ही AAP कार्यकर्ता थाली में जलेबियां लेकर सड़कों पर उतर आए थे और जमकर विरोध किया था।

AAP नेताओं ने कहा था कि प्रदूषण कंट्रोल कमेटी की महत्वपूर्ण बैठक छोड़कर सांसद गौतम गंभीर क्रिकेट मैच की कमेंट्री करते रहे साथ ही जलेबी भी खाते रहे। 

 

यहां पर बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में लगातार बढ़ते प्रदूषण के मुद्दे पर 15 नवंबर को प्रदूषण कंट्रोल कमेटी की अहम बैठक बुलाई गई थी। इस बैठक में तीनों नगर निगमों के आयुक्तों, डीडीए चेयरमैन के साथ गौतम गंभीर समेत कई सांसदों को भी शामिल होना था। वहीं, इस बैठक में ज्यादातर अफसरों के अलावा नेताओं के भी शिरकत नहीं करने के चलते बैठक को टालना पड़ा था। इस बीच सोशल मीडिया पर एक तस्वीर तेजी से वायरल हुई थी, जिसमें गौतम गंभीर इंदौर में अपने पूर्व क्रिकेटर साथियों संग जलेबी खाते नजर आए थे। 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस