नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। आम आदमी पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल ने आज तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है। दिल्ली विधानसभा चुनावों में आप ने इस बार 70 में से 62 सीटें जीती हैं। वहीं भारतीय जनता पार्टी 8 सीटें जीतने में सफल रही है, जबकि कांग्रेस को एक बी सीट हासिल नहीं हुई है। नीचे देखिए अरविंद केजरीवाल समेत किन सात आप विधायकों ने ली शपथ-

अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने हैं। केजरीवाल ने नई दिल्ली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था वो लगातार तीसरी बार यह सीट जीतने में सफल रहे हैं। उनसे पहले 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित इस सीट से चुनाव लड़ती रहीं थीं।

मनीष सिसोदिया

मनीष सिसोदिया केजरीवाल के पिछले कार्यकाल में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री के अलावा शिक्षा मंत्री का कार्यभार संभाल रहे थे। सिसोदिया ने पटपड़गंज विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था, उन्होंने तीसरे बार यहां से जीत हासिल की है। यहां से 

सत्येंद्र जैन

तीसरे नंबर पर सत्येंद्र जैन ने मंत्री पद की शपथ ली है। पिछले कार्यकाल में ये स्वास्थ्य, उद्योग, लोक निर्माण विभाग, बिजली, गृह और शहरी विकास विभाग संभाल रहे थे। सत्येंद्र जैन ने शकूरबस्ती विधानसभा सीट से चुनाव जीता है। दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक की योजना को तैयार कराने व उसे मूर्तरूप देने में उनकी अहम भूमिका रही है।

गोपाल राय

चौथे नंबर पर शपथ लेने आए गोपाल राय पिछले कार्यकाल में श्रम व रोजगार विकास, सामान्य प्रशासन विभाग, बाढ़ एवं नियंत्रण विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। गोपाल राय बाबरपुर विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में थे उन्होंने इस सीट पर भाजपा के नरेश गौड़ को शिकस्त दी है।

कैलाश गहलौत

पांचवे नंबर पर कैलाश हलौत ने शपथ ली। ये पिछले कार्यकाल में परिवहन, सूचना एवं प्रौद्योगिकी, राजस्व, कानून एवं न्याय और पर्यावरण विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। कैलाश गहलौत लगातार दूसरी बार नजफगढ़ विधानसभा सीट जीतने में सफल हुए हैं। उनसे पहले कोई भी लगातार दो बार यह सीट जीतने में सफल नहीं रहा है।

इमरान हुसैन

इमरान हुसैन ने पहले अल्लाह और फिर ईश्वर का नाम लेते हुए मंत्री पद की शपथ ली। पिछले कार्यकाल में ये खाद्य एवं आपूर्ति और चुनाव विभाग संभाल रहे थे। इमरान हुसैन ने बल्लीमरान विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था।

राजेंद्र पाल गौतम

राजेंद्र पाल गौतम ने शपथ ली है। इनके पास गुरुद्वारा इलेक्शन, अनुसूचित जाति-जनजाति व समाज कल्याण विभाग था। उन्होंने सीमापुरी विधानसभा सीट से जीत हासिल की है।