राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। दिल्ली में मतदाता सूची से नाम कटवाने व जुड़वाने को लेकर किए जा रहे फोन कॉल पर सख्त रवैया अपनाते हुए चुनाव आयोग ने दिल्ली पुलिस आयुक्त से इसकी शिकायत की है। मामले की जांच करने के साथ ही इस बारे में उचित कार्रवाई करने को भी कहा गया है। इसके साथ ही मतदाताओं को इस तरह के फोन पर ध्यान नहीं देने और अपने नाम की जांच मतदाता सूची में करने की सलाह दी गई है।

आम आदमी पार्टी (आप) यह आरोप लगाती रही है कि भाजपा के इशारे पर दिल्ली में 30 लाख से ज्यादा लोगों के नाम काटे गए हैं। इनमें से ज्यादातर संख्या वैश्य, मुस्लिम व पूर्वाचलियों की है। इसे लेकर आप की ओर से शहर में पोस्टर भी लगाए गए थे।

भाजपा नेताओं का आरोप है कि दिल्ली में लोगों को कॉल करके यह कहा जा रहा है कि भाजपा ने उनका नाम मतदाता सूची से कटवा दिया था, अब मुख्यमंत्री उसे जुड़वा रहे हैं। भाजपा का कहना है कि आम आदमी पार्टी एक सोची समझी रणनीति के तहत इस तरह से लोगों में भ्रम फैला रही है। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी व केंद्रीय राज्य मंत्री विजय गोयल चुनाव आयोग से इसकी शिकायत भी की है।

केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए क्योंकि दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को केजरीवाल और उनकी आप पार्टी पर लगे आरोपों की जांच करने के लिए चिठ्ठी लिख दी है।

आम आदमी पार्टी पर यह आरोप है की ये लोगो को फ़ोन पर झूठ बोल रहे थे कि आप का वोट भाजपा ने कटवा दिया है जिसे हम वापस जुड़वा देंगे। अब केजरीवाल जी यह कहेगे कि यह फ़ोन कॉल उनके लोग नहीं कर रहे थे इसीलिए तो जांच की जाएगी।  

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस