नई दिल्ली, एएनआइ। मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में आरोपित कर्नाटक के पूर्व कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार का दशहरा अब तिहाड़ जेल में मनेगा। दिल्ली कोर्ट ने डीके शिवकुमार की न्यायिक हिरासत 15 अक्टूबर तक के लिए बढ़ा दी है। इसके अलावा कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) को तिहाड़ जेल में शिवकुमार से पूछताछ की इजाजत दे दी है।

जानकारी के मुताबिक, ईडी चार और पांच अक्टूबर को तिहाड़ जेल में कांग्रेस नेता से पूछताछ कर सकेगी। बता दें कि ईडी ने पूछताछ के लिए कोर्ट से इजाजत मांगी थी। इससे पहले 17 सितंबर को कोर्ट ने शिवकुमार को एक अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था। मंगलवार को न्यायिक हिरासत खत्म होने के बाद कोर्ट ने फिर से उनकी न्यायिक हिरासत बढ़ा दी।

जमानत के लिए हाई कोर्ट में दाखिल की है याचिका

ट्रायल कोर्ट से जमानत याचिका खारिज होने के बाद शिवकुमार ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की है। शिवकुमार ने ट्रायल कोर्ट में खराब सेहत की दलील दी थी लेकिन जमानत नहीं मिली थी। सुनवाई के दौरान ईडी ने कहा था कि शिवकुमार की संपत्ति बेदाग साबित नहीं हुई है। इस अपराध की जड़ें गहरी हैं और इससे अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा है।

ये है पूरा मामला

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने डीके शिवकुमार, हनुमंथैया और कर्नाटक भवन के एक कर्मचारी और अन्य के खिलाफ पिछले साल मनी लांड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया था। यह केस आयकर विभाग की चार्जशीट के आधार पर दर्ज किया गया था। पूर्व मंत्री शिवकुमार पर कथित तौर कर चोरी और हवाला के तहत लेन-देन करने का आरोप है। फिलहाल शिवकुमार तिहाड़ जेल में बंद है। अभी हाल में ही सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शिवकुमार से मुलाकात की थी।

मनोज तिवारी के बयान पर भड़के AAP नेता संजय सिंह, भाजपा को बताया मुद्दा विहीन पार्टी

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस