नई दिल्ली/गाजियाबाद। JNU Violence case: दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) में 4 जनवरी की शाम को हुई हिंसा मामले में नया मोड़ आ गया है। जेएनयू कैंपस में तोड़फोड़ और हिंसा की जिम्मेदारी लेने वाले हिंदू रक्षा दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष पिंकी चौधरी के बयान को दिल्ली पुलिस ने संज्ञान में लिया है।

दरअसल, खुद को हिंदू रक्षा दल का राष्ट्रीय अध्यक्ष बताते हुए पिंकी चौधरी ने मीडिया के सामने आकर रविवार शाम को जेएनयू कैंपस में हुई हिंसा और तोड़फोड़ को जिम्मेदारी ली है।  मिली जानकारी के मुताबिक, हिंदू रक्षा दल का मुखिया दिल्ली से सटे गाजियाबाद के शालीमार बाग इलाके में रहता है। 

गौरतलब है कि हिंदू रक्षा दल के संगठन के मुखिया पिंकी चौधरी ने वीडियो जारी कर दावा किया है कि जेएनयू में हुई हिंसा उन्होंने ही करवाई है। पिंकी चौधरी का यह भी दावा है कि जेएनयू में हुई हिंसा उसके कार्यकर्ताओं ने की है। इसी के साथ सोशल मीडिया में वायरल हुए इस वीडियो में पिंकी ने कहा है कि ऐसे लोग देश-विरोधी गतिविधियों में लिप्त थे और ऐसी गतिविधियां बर्दाश्त नहीं की जाएंगी।

पिंकी ने वायरल वीडियो में चेतावनी भरे लहजे में कहा- 'अगर हमारे यहां कोई भी देश विरोधी गतिविधियां करेगा तो उसे इसी तरह का जवाब दिया जाएगा... जैसे हमले कल शाम दिया।...और हम इसकी जिम्मेदारी लेते हैं। हमारे धर्म के खिलाफ इतना गलत बोलना इन लोगों का गलत व्यवहार है। कई वर्षों से जेएनयू कम्यूनिस्टों का अड्डा बना हुआ है और हम ऐसे अड्डे बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम लोग अपने धर्म के लिए अपने प्राण न्योछावर करने को तैयार हैं।'

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस