नई दिल्ली, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019: आम चुनाव-2019 के अंतर्गत सात राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा जिसमें दिल्ली की सात सीटें (नई दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली, उत्तर पश्चिमी दिल्ली और चांदनी चौक) भी शामिल हैं। इन पर रविवार 12 मई को वोट डाले जाएंगे। निर्वाचन आयोग ने छठे चरण के चुनाव के लिए शुक्रवार को विभिन्न सीटों पर शाम चार बजे से छह बजे के बीच प्रचार थमने से पहले इस चरण में किस्मत आजमा रहे उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी कर दी। छठे चरण में दिल्ली की सभी सात और हरियाणा की सभी दस सीटों के अलावा उत्तर प्रदेश की 14, बिहार, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल की आठ-आठ तथा झारखंड की चार सीटों पर मतदान होगा।

सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा मतदान

मतदान रविवार सुबह 7 बजे से शाम छह बजे तक चलेगा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय के अनुसार शुक्रवार शाम प्रचार समाप्त होने के बाद से ही कोई भी प्रत्याशी रैली, जुलूस और अपने क्षेत्र में सार्वजनिक बैठक नहीं कर सकेगा। रेडियो व टेलीविजन के माध्यम से भी चुनाव प्रचार पर पाबंदी रहेगी। यहां तक की नेताओं और पार्टियों के समर्थन में किए जा रहे फोन और एसएमएस पर भी रोक लग जाएगी। इस दौरान आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।


डीएमआरसी भी पीछे नहीं, सुबह चार बजे से दौड़ेगी मेट्रो

12 मई को मतदान के दिन के लिए दिल्‍ली मेट्रो ने अपनी सेवा को सुबह चार बजे से शुरू करने का निर्णय लिया है। दिल्‍ली मेट्रो ने अपने ट्विटर हैंडल पर यह जानकारी पहले ही दे दी। ट्वीट में दिल्‍ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन ने कहा, ’12 मई को दिल्ली में मतदान की सुविधा के लिए दिल्‍ली मेट्रो सभी लाइनों पर सुबह चार बजे से सुबह 6 बजे तक 30 मिनट के इंटरवल पर चलेगी। साथ ही इसकी सामान्‍य सेवा सुबह 6 बजे से शुरू होगी।‘

13,819 मतदान केंद्रों पर 89,968 कर्मियों की तैनाती

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रणबीर सिंह के अनुसार मतदाताओं की सुविधा के लिए करीब 27 सौ लोकेशन पर 13,819 मतदान केंद्र बनाए जा रहे हैं। यहां 89 हजार 968 कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा। चुनाव ड्यूटी पर तैनात कर्मियों को मतदान करने के लिए डाक मतपत्र की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। उन्‍होंने आगे कहा कि राजधानी की सभी सात सीटों पर मतदान की तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। मतदान के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करते हुए मतदान केंद्रों को सीसीटीवी कैमरों से लैस कर इन पर केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है।

दिव्‍यांग मतदाताओं के लिए खास इंतजाम

उन्होंने बताया कि मतदाताओं, खासकर दिव्यांग मतदाताओं की सहायता के लिये विशेष इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली में 523 संवेदनशील मतदान स्थलों पर अतिरिक्त सुरक्षा एवं निगरानी इंतजाम किये गये हैं। छठे चरण के लिये आयोग द्वारा जारी उम्मीदवारों की सूची के अनुसार इस चरण के चुनाव मैदान में कुल 979 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं।

एक करोड़ तैंतालीस लाख से अधिक मतदाता करेंगे वोट

दिल्ली की सातों सीटों के लिए इस बार कुल 1,43,27,458 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। सीईओ डॉ. रणबीर सिंह के अनुसार 18 जनवरी 2019 को दिल्ली के कुल मतदाताओं की संख्या 1,36,95,291 करोड़ थी जबकि 29 अप्रैल को फाइनल की गई मतदाता सूची में यह बढ़कर 1,43,27,458 करोड़ पहुंच गई है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 78,73,022 लाख जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 64,42,762 लाख है। दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 40,532 जबकि सर्विस वोटरों की संख्या 22,005 है।

मतदान केंद्रों पर होंगी 34,953 ईवीएम व 20,435 वीवीपैट मशीनें

दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों के 13,819 मतदान केंद्रों पर ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा। इलेक्ट्रॉनिक पद्धति से मतदान के लिए 34,953 बैलेट यूनिट, 19,002 कंट्रोल यूनिट और 20,435 वीवीपैट की सहायता ली जाएगी। वहीं मतगणना के लिए सातों संसदीय क्षेत्रों में एक-एक मतगणना केंद्र बनाया जाएगा।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस