नई दिल्ली/गाजियाबाद, जेएनएन। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाई कोर्ट बेंच की मांग को लेकर शुक्रवार 22 जिलों के वकील दिल्ली में संसद का घेराव करेंगे। इस बात को लेकर अधिवक्ताओं ने बार सभागार में बैठक की। इसमें रणनीति तय की गई।

बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल पंडित ने बताया कि बृहस्पतिवार को कचहरी में वकील कार्य से विरत रहे। शुक्रवार तक हड़ताल जारी रखेंगे। उन्होंने बताया कि बार सभागार में सभी वकीलों की मीटिंग हुई, जिसमें सभी ने संसद भवन का घेराव करने की रणनीति बनाई।

शुक्रवार को बड़ी संख्या में अधिवक्ता सुबह 10 बजे कचहरी के आरडीसी स्थित गेट पर एकत्रित होंगे,वह बस और निजी वाहन से दिल्ली के लिए रवाना होंगे। अधिवक्ता पहले जंतर-मंतर पर धरना देंगे और उसके बाद वह संसद भवन का घेराव करने के लिए जाएंगे।

सचिव विश्वास त्यागी ने बताया कि वकील पिछले 40 सालों से लगातार पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अंदर हाईकोर्ट बेंच बनाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन सरकारें इस मांग को नहीं मान रही हैं। उन्होंने कहा कि अब केंद्र और राज्य दोनों में भाजपा की सरकार हैं, जिसके तहत आसानी से बेंच बनाने का प्रस्ताव पास किया जा सकता है।

वहीं, मेरठ बार एसोसिएशन के महामंत्री देवकी नंदन शर्मा ने बताया कि मुजफ्फरनगर बैठक में पारित प्रस्ताव के अनुपालन में आयोजित इस आमसभा में सदस्यों के साथ विचार विमर्श कर शुक्रवार को संसद का घेराव करने की रणनीति तैयारी की जाएगी। इस कारण पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सभी सदस्य अधिवक्ता न्यायिक दो दिन कार्य से विरत रहेंगे। जिला व तहसील स्तर की सभी बार एसोसिएशन के सदस्य दिल्ली में संसद भवन के घेराव के लिए जंतर-मंतर पर एकत्रित होंगे।

दिल्ली-एनसीआर की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस